Tuesday, March 31, 2020 06:51 PM

अक्तूबर-नवंबर में होंगे पंचायत चुनाव

पंचायती विभाग ने बर्फबारी से पहले ही चुनाव करवाने की बनाई योजना

धर्मशाला - इस वर्ष होने वाले पंचायत चुनावों के लिए अभी से पंचायती विभाग द्वारा तैयारिया शुरू कर दी गई है। वर्ष 2015-16 के चुनाव दिसंबर और जनवरी में करवाए गए थे। लेकिन इस वर्ष होने वाले चुनाव  अक्तुबर या नवम्बर में करवाए जा सकते हैं। हिमाचल में बर्फबारी की संभावना को देखते हुए सर्दियां शुरू होने से पहले ही पंचायत चुनाव करवाए जाएंगे।   पहाड़ी राज्य हिमाचल प्रदेश के पहाड़ी गांवों में वर्ष के अतं दिसंबर में बर्फबारी शुरू हो जाती है, और ऊपरी पंचायतों में चुनाव करवाने में दिक्कतों का सामना करना पड़ता है।हर पांच साल बाद चुनावों के समय पंचायती राज अधिनियम के तहत ही रिर्जवेशन की जाती है। हर चुनाव में पंचायतें रोटेट होती है, जैसे इस वर्ष अगर महिलाओं के लिए सिट रिजर्व है तो अगले वर्ष ओपन हो जाती है, और एससी,एसटी व ओबीसी की जंसख्या के आधार पर ही उन्हें आरक्षण दिया जाता है। पंचायती अधिनियम के अनुसार हर चुनावों में 50 प्रतिशत सीटें महिलाओं के लिए आरक्षित की जाती है। पंचायती विभाग में चुनावों के लिए अभी से तैयारियां शुरू हो गई है। इस वर्ष पंचायती चुनाव जल्दी होने की आशा है, क्योंकि नवंबर और दिसंबर से ऊपरी जिलों में भारी ठंड और बर्फबारी शुरू हो जाती है और लोगों को चुनाव केंद्र तक आने में दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। इसी के चलते चुनाव अक्तूबर या नवंबर में हाने की आशा है।अश्वनी कुमार शर्मा जिला पंचायत अधिकारी एवं सचिव जिला परिषद कांगड़ा में 110 नई पंचायतें बनाने प्रस्ताव प्रदेश के सबसे बड़े जिला कांगड़ा में मौजूदा समय में 748 पंचायतें है। वहीं, आगामी पंचायत चुनावों से पहले 110 नई पंचायतें बनाने के भी प्रस्ताव भी भेज दिए गए हैं। पंचायती विभाग ने निदेशालय शिमला को पंचायतें बनाने के लिए 110 प्रस्ताव भेज भी दिए हैं। हालांकि अभी तक इन प्रस्तावों पर सरकार की तरफ से अब तक कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है। नई पंचायतों को लेकर फैसले कैबिनेट मीटिंग के दौरान किए जाएंगे। सरकार का फैसला आने के बाद ही रिर्जवेशन की प्रक्रिया शुरू की जाएगी और बाकी कार्य शुरू किए जाएंगे।