Wednesday, May 27, 2020 12:43 PM

अधिक किराया वसूली-दुर्व्यवहार पर ड्राइवर-कंडक्टरों के लाइसेंस सस्पेंड, हमीरपुर से दो दर्जन शिकायतें

मुख्यमंत्री सेवा संकल्प पर निजी आपरेटरों की शामत

हमीरपुर - आम आदमी से लेकर खास तक सबकी समस्याओं का ऑनलाइन समाधान करने के लिए शुरू की गई मुख्यमंत्री सेवा संकल्प योजना हेल्पलाइन के सकारात्मक परिणाम दिखने लगे हैं। सबसे ज्यादा राहत उन लोगों को मिली है, जिन्हें रोजाना खासकर निजी बसों में सफर करते वक्त कभी किराए, कभी स्टेशन तो कभी बस की टाइमिंग को लेकर ड्राइवर-कंडक्टरों की किचकिच सुननी पड़ती है। जानकारों की मानें तो प्रदेश भर में हेल्पलाइन नंबर 1100 पर आई करीब दो लाख ऑनलाइन शिकायतों में अधिकतर शिकायतें उन लोगों की हैं, जो बसों में सफर करते हैं। परिवहन विभाग द्वारा न केवल तीन दिन में यात्रियों की शिकायतों को निपटाया गया, बल्कि जुर्माने के साथ ड्राइवर-कंडक्टरों के लाइसेंस भी सस्पेंड किए। जिला हमीरपुर की बात करें तो यहां अब तक लगभग 15 शिकायतों को निपटाया गया। एक निजी बस कंडक्टर को तीन सवारियों से अधिक किराया वूसलने पर 2500 रुपए जुर्माना किया गया, साथ ही उसका लाइसेंस भी सात दिन के लिए सस्पेंड किया गया। इसी तरह हाफ की जगह फुल सवारी का टिकट काटने पर भी एक कंडक्टर को 1500 रुपए जुर्माना किया गया। एक कंडक्टर का लाइसेंस इसलिए सस्पेंड किया गया, क्योंकि बस ने जाना जाहू तक था, लेकिन सवारियों को मिस गाइड करने के लिए उसने मंडी का बोर्ड बस में लगाया हुआ था। उसे एक हजार रुपए फाइन भी किया गया। इसी तरह एक निजी बस के ड्राइवर का लाइसेंस सात दिन के लिए इसलिए सस्पेंड किया गया, क्योंकि उसने अपने कंपीटिशन के चक्कर में सवारी को उसे निर्धारित स्टेशन पर नहीं उतारा था। विदित रहे कि परिवहन विभाग के पास पहले भी सैकड़ों शिकायतें सवारियों की इस तरह की आती रहती थीं, लेकिन कार्रवाई कुछेक ही पर ही होती थी, लेकिन मुख्यमंत्री सेवा संकल्प 1100 हेल्पलाइन पर किसी भी शिकायत की फीडबैक संबंधित अधिकारी को तीन दिन के भीतर देनी होती है, अन्यथा उस पर गाज गिर सकती है। इसलिए अधिकारी इसे गंभीरता से ले रहे हैं।