Thursday, July 16, 2020 07:11 PM

अनुराग अंकल हमारे पापा को ब्राजील से घर ले आओ

मर्चेंट नेवी में कैप्टन है अजय; 15 फरवरी को गए थे ब्राजील, बच्चों ने मंत्री अनुराग ठाकुर से लगाई गुहार

बंगाणा-बंगाणा उपमंडल बंगाणा के तनोह पंचायत के करसाई गांब के मर्चेंट नेबी में कैप्टन अजय ठाकुर पिछले दो माह से ब्राजील के एक निजी होटल में फंसे हुए है। अजय ठाकुर ने पीएम नरेंद्र मोदी, वित्त राज्य मंत्री अनुराग सिंह ठाकुर एवं सीएम जयराम ठाकुर से भी बीडियो कॉन्फ्रेस के माध्यम से बात की ओर अपनी व्यथा सुनाई है और घर आने की गुहार लगाई है। लेकिन अभी तक किसी भी नेता ने कोई सुनवाई नहीं की है। अजय ठाकुर के पिता बलदेव सिंह कुटलैहडिया ने कहा कि मेरा बेटा अजय ठाकुर 25 मार्च से 35 दिनों की सेवाएं देकर ड्रॉप करके बैठा है। पिछले दो माह से अकेला एक निजी होटल में रह रहा है। अजय ठाकुर की पत्नी अंजना ठाकुर एवं दो बच्चे सात्विक ठाकुर भी बहुत परेशान है। अजय ठाकुर के बच्चे अपने पापा से मिलने के लिए बेताव है। लेकिन दो माह से अजय ठाकुर का घर न आने से बच्चे भी परेशान हो चुके है। कुटलैहडिया ने कहा कि अजय ठाकुर ने तो सरकार से यह भी कह दिया है कि अगर सरकार खर्च नहीं कर सकती है तो सरकार केवल हमे हिंदुस्तान आने की परमिशन दं, वह अपने खर्च पर ही अपने घर आ जाएंगे। अजय ठाकुर ने कहा कि में फरवरी माह के मध्य यानी 16 तारीक को ब्राजील आये थे। 35 दिनों की हमारी सेवा के बाद हम 25 मार्च को सेवा से ड्रॉप हो गए थे। उसके बाद हमने घर आने के लिए सरकार से भी संपर्क किया। और केंद्रीय गृह मंत्रालय,सीएम जयराम ठाकुर से भी संपर्क करके बात की। लेकिन दो माह बीत जाने के बाद भी हमें कोई परमिशन नहीं मिली। अजय ठाकुर ने कहा कि हम 250 लोग है। जो अलग-अलग होटलों में रहकर समय बिता रहे है। हमने सरकार को भी लिखा है कि अगर सरकार हमारा खर्च वहन नहीं कर सकती है तो हमे हिंदुस्तान आने की परमिशन दे दे, हम अपने खर्च पर ही हिंदुस्तान आ जाएंगे। इस संबंध में जब केंद्रीय वित्त राज्य मंत्री अनुराग सिंह ठाकुर से बात की तो उन्होंने कहा कि ब्राजील से अजय ठाकुर की मेल के माध्यम से जानकारी मिली थी। दो माह तक हवाई सेवाएं लॉक डाउन के चलते बंद थी। अब उन्होंने विदेश मंत्रालय को पत्र लिखकर अजय ठाकुर के घर वापिसी के लिए निवेदन किया है। बहुत जल्दी अजय ठाकुर ब्राजील से घर वापस आएगा।