Friday, September 20, 2019 01:03 AM

अप्पर शिमला में हर तरफ तबाही

जुब्बल-हाटकोटी कैंची के पास टैम्पो पर गिरा मलबा; चालक की मौत, 13 लोग सुरक्षित बचाए

रोहडू - रोहडू, चिड़गांव और जुब्बल में हो रही लगातार बारिश से काफी नुकसान हुआ है। जुब्बल-हाटकोटी कैंची के पास सुबह चार बजे टैम्पो के ऊपर मलबा गिरने से चालक की मौत हो गई और परिचालक घायल हो गया। 13 व्यक्तियों को स्थानीय लोगों के सहयोग से सुरक्षित बचाया जा सका है। लगातार हो रही बारिश से रोहडू, हाटकोटी-ठियोग मुख्य सड़क पर पलोटीधार के पास सड़क पर मलबा गिरने से अवरुद्ध हो गई है, जिससे शिमला के लिए यातायात बंद हो गया है। उपमंडल की 48 सड़कें अवरुद्ध हैं। सड़कें अवरुद्ध होने से एचआरटीसी के सौ से अधिक रूट प्रभावित हो गए हैं। लगातार हो रही बारिश से अलग-अलग क्षेत्रों में पांच कच्चे मकान मलबे व पब्बर में जलस्तर बढ़ने से नष्ट हो गए हैं। वहीं, 15 कच्चे भवनों को भी नुकसान पहुंचा है। पब्बर और अंध्रा नदियां उफान पर चल रही हैं। वहीं, गिल्टाड़ी ग्राम पंचायत के क्वालटा के एक नाले में पानी के तेज बहाव में एक पिकअप, एक ट्रैक्स और एक स्पार्क गाड़ी बह गई है।

चालक समेत बहा टिप्पर, बाइक पर गिरा पत्थर, चालक की मौत

रोहड़ू - जुब्बल व उत्तरकाशी सीमा पर स्नेल में बादल फटने से हिमाचल क्षेत्र के स्नेल में रहने वाले कुछ नेपाली परिवार प्रभावित हुए हैं, जिसमें नेपालियों के डेरे में पानी घुस गया। बदल फटने से एक टिप्पर बह गया, जिसमें चंबा के रहने वाले तिलक राज की बहने से मौत हो गई। वहीं, दो लोग लापता चल रहे हैं। प्रभावितों में सागर नेपाली का परिवार, मदन मजदूर, अमर बहादुर, छोटे लाल, लाल बहादुर व अजय, नंद लाल व शिवम, राम कृष्ण फोरमैन का परिवार शामिल है। वहीं, जांगला के बडियारा कुलगांव के पास बाइक पर पत्थर गिरने से नेपाली युवक की मौत हो गई।

ठियोग की तातल खड्ड में बहे चार एक की मौत, एक लापता, दो बचाए

ठियोग - ठियोग की क्यारटू पंचायत के तातल गांव के पास नेपाली मूल के चार लोग भारी बरसात के कारण उफनती खड्ड पार करते हुए बह गए, जिसमें तीन महिलाएं और एक व्यक्ति शामिल था। एक औरत की मौत हो गई है, जिसका शव निकाल दिया गया है, जबकि एक 17 साल की बच्ची का शाम तक कोई पता नहीं लग पाया है। शेष बचे अन्य दो लोगों को बचा लिया गया है। ठियोग पुलिस के जवानों और स्थानीय लोगों ने लापता लड़की को ढूंढने के लिए रेस्क्यू आपरेशन चलाए रखा। एसडीएम ठियोग और तहसीलदार भी मौके पर पहुंचे और परिजनों को प्रशासन से हरसंभव सहायता का आश्वासन दिया।