Monday, April 06, 2020 06:05 PM

अब आठ से 11 बजे तक खुलेंगी सब्जी-किराना दुकानें

धर्मशाला      - कोरोना वायरस को रोकने के लिए कर्फ्यू लगाने के बाद बदले हालात से पार पाने के लिए अब प्रशासन ने कांगड़ा जिला में भी पुराने आदेशों को संसोधित करते हुए किराना, सब्जी की दुकानों आदि को सुबह आठ से 11 बजे तक ही खुला रखने के आदेश जारी कर दिए हैं, जिससे पहले दिन लोगों को खूब परेशान होना पड़ा।  देश भर में लॉकडाउन करने के बाद लोग राशन व सब्जी लेने के लिए लगातार दुकानों के चक्कर लगा रहे हैं, जिससे उन्हें राहत मिल सके, लेकिन नए निर्देशों के चलते लोगों को निराश होकर खाली हाथ ही लौटना पड़ा। मंगलवार देर शाम पांच बजे के बाद कर्फ्यू लग जाने  के चलते हालात बदल गए हैं। अब प्रशासन ने बिगड़ते हालात पर काबू पाने व चहल-पहल को कम करने के लिए समय निर्धारित कर दिया है, लेकिन जिन्हें घर में कैद रहने की आदत नहीं है वह किसी न किसी वहाने घर से निकल रहे हैं।

सुन लो... डिपुओं में 11 बजे से पहले लें राशन

जवाली। कोरोना वायरस के मद्देनजर हिमाचल में कर्फ्यू दौरान सहकारी सभाओं द्वारा संचालित राशन डिपुओं पर अब सुबह 11 बजे तक ही राशन मिलेगा। खाद्य एवं आपूर्ति निरीक्षक फतेहपुर सुरेंद्र राठौर ने बताया कि प्रशासन द्वारा जारी आदेशों पर राशन डिपुओं को सुबह आठ बजे से सुबह 11 बजे तक ही खोला जा सकता है। उन्होंने कहा कि दूरदराज से आने वाले सेल्जमैन के लिए कर्फ्यू पास बनवाने की प्रक्रिया शुरू की गई है। बुधवार को फ्लौर मिल की गाडि़यों के कर्फ्यू पास बनवाए गए हैं, ताकि वह डिपुओं तक आटे की सप्लाई पहुंचा सकें, वहीं उपमंडल मुख्यालय के राशन डिपो के बुधवार को न खुलने कारण लोगों को राशन नहीं मिल पाया। इसका कारण यह बताया जा रहा है कि सेल्जमैन का कर्फ्यू पास नहीं बना था, इसलिए उसे पुलिस द्वारा आने नहीं दिया गया। वहीं, विभागीय अधिकारी ने लोगों से अपील की कि वे एक-दूसरे से संपर्क साधने के बाद अकेले-अकेले राशन लेने जाए।

लॉकडाउन फलों-सब्जियों के पड़ने लगे लाले

नगरोटा सूरियां। नहीं मिल रही लोगों को सब्जियां और फल! कुछ दुकानदारों की दुकान  जो बंद थी, उनकी सब्जी-फल आदि का सामान अंदर ही खराब हो गया है, जिन्हें उन्होंने बुधवार को बाहर फेंका। सब्जी-फल विक्रेताओं ने कहा कि यदि पीछे से समान ही नहीं आएगा, तो क्या बेचेंगे। वहीं, मेडिकल स्टोर, किराने तथा दूध की दुकानें भी कुछ समय के लिए खुली तथा ठीक 11 बजे बंद हो गई। धारा-144 के कारण किराना की दुकानों पर काफी भीड़ रही और लोगों ने मात्रा से ज्यादा सामान खरीदा। कई दुकानों पर तो आलू-प्याज तथा दालें भी खत्म हो चुकी हैं। दुकानदारों का कहना है कि यदि यही हालात रहे तो एक या दो दिन में सारा सामान भी खत्म हो सकता है। वहीं, स्वास्थ्य विभाग में भीड़ को देखते हुए स्टाफ को पुलिस का सहारा लेना पड़ा जिस पर कार्रवाई करते हुए पुलिस ने वहां से भीड़ को हटाया और लॉकडाउन के दौरान घरों से बाहर निकले लोगों को वापस घर भेजा।