Thursday, July 02, 2020 05:47 PM

अब लाहुल जा सकेंगे मजदूर

डीसी-एसडीएम कार्यालय में करना होगा आवेदन, ग्रीन जोन से जाने वालों को ही मिलेगी अनुमति

केलांग -जनजातीय जिला लाहुल-स्पीति के किसानों की सबसे बड़ी टेंशन को सरकार ने दूर कर दिया है। किसानों को अब अपनी फसलों की बिजाई व कृषि कार्याें की चिंता नहीं सताएगी। बाहरी क्षेत्रों से मजदूरी के लिए लाहुल आने वाले मजदूरों के लिए लाहुल के प्रवेश द्वार खोल दिए गए हैं। लाहुल के किसानों की मांग पर सरकार ने यह  निर्णय लिया है। रोजी-रोटी कमाने के लिए लाहुल आने वाले मजदूरों को कुछ शर्ताें का पालन करते हुए लाहुल में अब एंट्री मिलेगी। सरकार के आदेशों के बाद प्रशासन ने यह नई व्यवस्था बनाई है। एसडीएम केलांग अमर नेगी ने खबर की पुष्टि करते हुए बताया कि लाहुल में उन मजदूरों को प्रवेश दिया जाएगा, जो ग्रीन जोन से आएंगे। इसके अलावा मजदूरों को लाहुल आने के लिए उपायुक्त केलांग के कार्यालय व एसडीएम कार्यालय केलांग में आवेदन करना होगा। उन्होंने बताया कि जो भी व्यक्ति ग्रीन जोन से मजदूरों को लाहुल में लाएगा उसे एक शपथ पत्र प्रशासन के पास जमा करवाना होगा। उस शपथ पत्र में मजदूरों की पूरी जानकारी सही ढंग से देनी होगी। शपथ पत्र में यह बताना होगा कि मजदूर प्रदेश के किस ग्रीन जोन से आ रहा है व कितने समय से वह ग्रीन जोन में रह रहा है। इसके अलावा मजदूरों की ट्रैवल हिस्ट्री की भी विस्तार से जानकारी देनी होगी। उन्होंने बताया कि जो भी मजदूर प्रशासन की शर्तों को पूरा करेंगे या मापदंड़ों पर खरा उतरेंगे उन्हें ही लाहुल आने की अनुमति दी जाएगी। नई व्यवस्था के तहत ग्रीन जोन से लाहुल आने वाले मजदूरों को क्वारंटाइन नहीं किया जाएगा, लेकिन प्रशासन मजदूरों पर नजर जरूर रखेगा। इसके अलावा मजदूरों से यह आग्रह भी किया जाएगा कि कम से कम दो सप्ताह तक वह स्थानीय लोगों से दूरी बनाए रखें और खेतों में काम करते समय सोशल डिस्टेंसिंग का पालन जरुर करें। किसानों की दिक्कतें देख  कृषि मंत्री डा. रामलाल मार्कंडेय से इस विषय पर चर्चा कर इसका समाधान करने की मांग की।