Wednesday, May 22, 2019 12:06 PM

अब लोकल सेंटर पर  होगी आधार करेक्शन

हजारों हिमाचलियों को यूआईडीआई से राहत, चंडीगढ़ के चक्करों से छूटे

हमीरपुर —आधार कार्ड में हुई गलती के सुधार के लिए अब रीजनल सेंटर चंडीगढ़ के चक्कर नहीं लगाने पड़ेंगे। यूआईडीएआई ने नई अधिसूचना जारी कर पहले के निर्देश वापस ले लिए हैं। अब जन्मतिथि में तीन साल से अधिक का अंतर भी लोकल आधारकार्ड केंद्रों पर ही ठीक हो जाएगा। यूआईडीएआई की नई गाइडलाइन से हिमाचल के हजारों लोगों को राहत मिलेगी। इससे पहले तीन साल से अधिक के अंतर की करेक्शन करवाने के लिए रीजनल सेंटर चंडीगढ़ को ही अधिकृत किया गया था। इसके अलावा हिमाचल में कहीं भी इसकी करेक्शन नहीं हो सकती थी। इसके बाद लोगों की दिक्कतें लगातार बढ़ने लगी थीं। फरवरी के अंत में यह गाइडलाइन जारी की गई थी। इसके बाद हिमाचल से बुजुर्गों को गाड़ी के माध्यम से चंडीगढ़ ले जाना पड़ रहा था। ‘दिव्य हिमाचल’ ने लोगों की यह समस्या प्रमुखता से उठाई थी। अब नई गाइडलाइन जारी कर आधार कार्ड में जन्मतिथि कितना भी अंतर हो, लोकल आधार कार्ड केंद्रों पर ही ठीक कर दिया जाएगा। बशर्ते करेक्शन के लिए प्रयोग में लाए जाने वाले सभी दस्तावेज प्रस्तुत करने होंगे। इसके बाद ही गलती का सुधार किया जाएगा। फिलहाल जो भी हो, नई अधिसूचना ने प्रदेश के लोगों को बड़ी राहत प्रदान की है। चंडीगढ़ जाने के कतरा रहे कई लोग आधार कार्ड में करेक्शन ही नहीं करवा रहे थे, जबकि आधार कार्ड ही वर्तमान में सभी जगह अनिवार्य किया गया है। बता दें कि आधार कार्ड पर हजारों लोगों की जन्मतिथि गलत दर्ज है। जब आधार कार्ड बनाने की प्रक्रिया शुरू हुई, तो कई लोगों ने इसे महज फॉर्मेलिटी समझ लिया। लोगों ने एस्टीमेट से ही जन्मतिथि दर्ज करवा दी। इसके बाद यही जन्मतिथि आधार कार्ड पर प्रकाशित हो गई। बाद में आधार कार्ड सभी जगह अनिवार्य कर दिया गया। विभिन्न जगह प्रयोग होने के चलते आधार कार्ड बनाते समय हुई गलतियां सामने आई हैं। प्रदेश में हजारों ऐसे लोग हैं, जिनके आधार कार्ड में शुद्धि होनी है। इनमें से सैकड़ों ऐसे हैं, जिनकी जन्मतिथि गलत दर्ज है तथा इसमें तीन साल से अधिक का अंतर है। ऐसे में इन्हें चंडीगढ़ में ही इसकी शुद्धि करवाने के लिए कहा गया था।