Tuesday, August 20, 2019 12:20 PM

अब लोकसभा में गूंजेगा सरचू सीमा विवाद

लाहुल-स्पीति के जिला परिषद अध्यक्ष रमेश रवालवा ने सांसद को लिखा पत्र, दिल्ली तक पहुंचा मामला

केलांग -सरचू सीमा विवाद अब लोक सभा में भी गूंजेगा। हिमाचल की सीमा मंे करीब 17 किलोमीटर भीतर घुस जे एंड के के कुछ कारोबारियों द्वारा अवैध रूप से पर्यटन कारोबार करने की शिकायत लाहुल-स्पीति के जिला परिषद अध्यक्ष रमेश रवालबा ने सांसद राम स्वरूप शर्मा को पत्र लिखकर की है। रवालबा ने सांसद को लिखे पत्र में लिखा है कि  हिमाचल की सीमा सरचू से जम्मू-कश्मीर के पर्यटन कारोबार से जुड़े लोग तकरीबन 17 किलोमीटर भीतर आकर अपना हक जता रहे हैं, दूसरी तरफ शिंकुला में भी 30 किलोमीटर अंदर घुसकर अपना पर्यटन कारोबार चला रहे हैं। ऐसे में जब स्थानीय लोग वहां पर पर्यटन कारोबार करने की इच्छा जता रहे हैं, तो उन्हें डराया जा रहा है। उन्होंने लिखा है कि जिला प्रशासन के ध्यान में भी यह मामला लाया गया है, लेकिन अभी तक किसी भी तरह की कोई कार्रवाई अमल में नहीं लाई गई है। उन्होंने पत्र मंे लिखा है कि गत वर्ष हिमाचल और जम्मू-कश्मीर के प्रशासनिक अधिकारियों की बैठक हुई थी,  जिसमें  सर्वे ऑफ  इंडिया की टीम ने मानचित्र के आधार पर स्थिति स्पष्ट करते हुए कहा था कि जम्मू-कश्मीर से जुड़े लोग हिमाचल में पर्यटन गतिविधियां चला रहे हैं। रवालबा ने सांसद से आग्रह किया की लंबे समय से चले आ रहे हिमाचल और जम्मू कश्मीर सीमा विवाद को जल्द से जल्द सुलझाया जाए। यहां बता दें कि  दारचा पंचायत के ग्रामीणों ने जहां हाल ही में इस बात का खुलासा किया था कि सरचु के बाद अब शिंकुला होेते हुए कारगिल के कुछ कारोबारी अवैध रूप से पर्यटन करोबार को अंजाम दे रहे हैं। उन्होंने जहां प्रशासन से इस संबंध में कार्रवाई की मांग की थी, वहीं लाहुल-स्पीति के पूर्व विधायक रवि ठाकुर ने भी मुख्यमंत्री जयराम को पत्र लिख समस्या का जल्द से जल्द समाधान करने का आग्रह किया है।