Tuesday, June 02, 2020 10:49 AM

अब विकास का रथ नहीं रोक पाएगा कोरोना

गगरेट में पीडब्ल्यूडी ने तैयार किया खाका, सड़क, पुल और भवन निर्माण पर खर्च होंगे 85 करोड़ रुपए

गगरेट  - लॉकडाउन के चलते विधानसभा क्षेत्र गगरेट में थमी विकास कार्यों के रफ्तार के बाद अब कोरोना वायरस के साथ ही जिंदगी को आगे बढ़ाने का रोडमैप तैयार कर लिया गया है। लोक निर्माण विभाग ने चालू वित्त वर्ष में करोड़ों रुपए के विकास कार्यों का मूर्तरूप देने का खाका तैयार किया है। लोक निर्माण विभाग ने स्पष्ट किया है कि अब कोरोना वायरस विकास कार्यों की रफ्तार पर ब्रेक नहीं लगा पाएगा। चालू वित्त वर्ष में सड़क, पुल व भवन निर्माण पर करीब 85 करोड़ रुपए खर्च किए जाएंगे। लोक निर्माण विभाग के अधिशाषी अभियंता एचएल शर्मा का कहना है कि विधायक राजेश ठाकुर भी कोरोना काल में विकास कार्यों को लटकाने के पक्षधर नहीं हैं। विधानसभा क्षेत्र गरेट में चालू वित्त वर्ष में करीब आठ करोड़ रुपए की लागत से भद्रकाली स्थित आईटीआई भवन का निर्माण कार्य करवाया जाएगा जबकि दो करोड़ रुपए की लागत से घनारी में तहसील भवन का निर्माण करवाया जाएगा। राजकीय महाविद्यालय दौलतपुर चौक में भी दो करोड़ रुपए की लागत से भवन का निर्माण होगा। इसके साथ ही ऊना-गगरेट-दौलतपुर चौक सड़क मार्ग पर साढ़े छह करोड़ रुपए की लागत से चार पुलों का निर्माण करवाना प्राथमिकता में है जबकि नारा डूहकी सड़क मार्ग पर पचास लाख रुपए की लागत से पुल निर्माण करवाया जाएगा। अनुसूचित जाति घटक योजना के अंतर्गत करीब दो करोड़ रुपए की लागत से दस सड़कों का निर्माण किया जाएगा और राज्य योजना के तहत एक करोड़ रुपए सड़क निर्माण पर खर्च होंगे। मुख्यमंत्री सड़क योजना के तहत गगरेट क्षेत्र में पांच सड़कों पर पचास लाख रुपए व्यय होंगे। क्षेत्र की सड़कों की मरम्मत के लिए तीन करोड़ रुपए का बजट खर्च किया जाएगा। मुबारिकपुर-दौलतपुरचौक-तलवाड़ा सड़क मार्ग के शेष कार्य पर दस करोड़ रुपए खर्च होंगे। प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना के तहत दस सड़कों को अपग्रेड करने के लिए पचास करोड़ रुपए का बजट खर्च किया जाएगा। उधर विधायक राजेश ठाकुर ने कहा कि गगरेट में विकास का पहिया रुकने नहीं दिया जाएगा।