Monday, October 21, 2019 12:57 AM

अश्लील गालियों से भगाए भूत-प्रेत

सैंज -सैंज घाटी के धाउगी गांव में मंगलवार को हूम पर्व का आयोजन किया गया, जिसमें आराध्य देव लक्ष्मी नारायण की भव्य शोभायात्रा निकाली गई। स्थानीय बाशिंदे विद्याप्रकाश नेगी ने बताया कि भादों माह को काला महीना माना जाता है, जिसमें शुभकार्यों का आयोजन निषेध माना जाता है और इस महीने के अंत में हूम पर्व के माध्यम से बुराई खत्म करने के लिए प्रत्येक घर से मशालें निकाली जाती हैं। अंधेरा होते ही धाउगी गांव में घाटी के सभी लोग एकत्रित हुए और जलती मशालों से पूरा गांव जगमगाने लगा। गांव में देवता लक्ष्मी नारायण की शोभायात्रा ढोल-नगाड़ों के साथ निकाली और सभी लोगों ने सुख-समृद्धि का आशीर्वाद लिया। देव परंपरा का निर्वहन करते हुए गांववासियों ने करीब सौ फुट ऊंची मशाल जलाने के बाद अश्लील गालियों से भूतप्रेत भगाने व दुख- दरिद्र दूर करने की रस्म पूरी की। देवता कमेटी की कारदार शारदा शर्मा प्रमुख पालसरा बली राम, थरवन पालसरा, लाल दास भंडारी, गुर देवराज शर्मा, मोहता महेंद्र शर्मा, धामी रविंद्र नेगी ने बताया कि हर वर्ष सायर संक्रांति से एक दिन पूर्व देवता लक्ष्मी नारायण के सम्मान में हूम पर्व आयोजित किया जाता है, जिसे देवता की जन्मतिथि के रूप में भी मनाया जाता है, और देवता कमेटी के सभी प्रमुख कारकून व्रत रख कर देवता का शृंगार करते हंै। इस दौरान हूम पर्व की रस्मों को निभाने के पश्चात सामूहिक कुल्लवी नाटी का आयोजन भी किया गया।