Wednesday, July 08, 2020 01:43 PM

आईएचबीटी के रेडी-टू-ईट उत्पाद भरेंगे पेट

कोविड-19 के दौर में जरूरतमंदों के लिए पैकेट बंद पौष्टिक खाना बनेगा सहायक

पालमपुर - कोविड-19 के कारण पैदा हुई परिस्थितियों से निपटने के लिए आम लोग व समाजसेवी संस्थाएं सरकार की मदद को आगे आ रही हैं, वहीं पालमपुर स्थित हिमालयन जैवसंपदा प्रौद्योगिकी संस्थान ने भी इस मौके पर हरसंभव मदद की तैयारी की है। संस्थान के वैज्ञानिकों द्वारा तैयार किया गया रसायनमुक्त हैंड सेनेटाइजर जहां बाजार में उतारा जा चुका है, वहीं संस्थान के वैज्ञानिकों द्वारा पूर्व में तैयार किए गए रेडी-टू-ईट उत्पाद इस मुश्किल वक्त में काफी सहायक साबित हो सकते हैं। जरूरतमंदों की मदद के लिए संस्थान भी तैयार और इस कड़ी में सीएसआईआर-आईएचबीटी ने पालमपुर सब-डिविजन के  भरमात पंचायत में फंसे हुए प्रवासी कामगारों को रेडी-टू-ईट खाना उपलब्ध करवाया । पंचायत प्रतिनिधि ने बताया कि कर्फ्यू के बीच काम पर नहीं जा पाने वाले प्रवासी श्रमिकों के कई परिवार रोटी  के लिए संघर्ष कर रहे हैं। सीएसआईआर-आईएचबीटी के निदेशक डा. संजय कुमार ने तुरंत संस्थान द्वारा विकसित रेडी-टू-ईट भोजन भिजवाने की पहल की। भोजन बॉक्सेस पंचायत के उप-प्रधान अजय कपूर, वार्ड पंच दविंद्र गुड्डू व हरमेश तथा महिला मंडल प्रधान पूनम वाली को सौंप दिए गए। गौर रहे कि संस्थान द्वारा विकसित भोजन तैयार करने के लिए रासायनिक और परिरक्षक मुक्त है, 12 महीने के शेल्फ  जीवन के साथ प्रोबायोटिक प्रभाव जैसे स्वास्थ्य लाभ है। डा. संजय कुमार के अनुसार संस्थान कोविड-19 की कठोर स्थिति में रेडी-टू-ईट भोजन द्वारा समाज के लिए अपनी सेवाएं देता रहेगा । डा. संजय कुमार के अनुसार संस्थान का प्रयास इस कठिन समय में लगातार समाज की सेवा करना है।