Monday, June 01, 2020 12:59 AM

आईजीएमसी को किया सेनेटाइज

शिमला में नगर निगम की मुहिम, एजी चौक से तारा देवी सड़क को किया सेनेटाइज

शिमला-आईजीएमसी में कोरोना के मामले सामने आने के बाद रविवार को निगम की टीम ने तारादेवी से आईजीएमसी तक की पूरी सड़क को सेनेटाइज किया। इसके बाद दुकानें बंद होने के बाद पूरे लक्कड़ बाजार एरिया को भी सेनेटाइज किया गया। इसी रास्ते से कोरोना पीडि़तों को आईजीएमसी लाया गया था, नगर निगम के संयुक्त आयुक्त अजीत भारद्वाज ने बताया की अपने स्तर पर निगम प्रशासन पूरी एहतियात बरत रहा है। इन दिनों शहर में कोरोना का खौफ लोगों में साफ देखा जा रहा है। ऐसे में लोग अपने स्तर पर साफ-सफाई का अहम ध्यान रख रहे हैं। वहीं निगम प्रशासन भी आईजीएमसी अस्पताल में कोरोना का संक्रमण न फैले, इसे सुनिश्चित कर रहा है। निगम ने शहर की अधिकतर सड़कों को भी सेनेटाइज किया है। ताकि कोरोना वायरस के संक्रमण का कोई खतरा न रहे। इसके अलावा निगम की गाडि़यां व फायर बिग्रेड की गाडियों की सहायता से रविवार को शिमला को सेनेटाइज किया गया। इसके साथ ही केएनएच में हैंड फ्री टेप इनस्टॉल किया गया है। इसका फायदा यह है कि पानी यूज करने के लिए आपको हाथों का इस्तेमाल करने की जरूरत नहीं है। पैर से ही दबाकर हाथ धोने के लिए पानी यूज़ किया जा सकता है। गौर हो कि प्रदेश में कोरोना के नए मामले सामने आए हैं, जिससे पूरे प्रदेश में हड़कंप मच गया है। इनमें से तीन को सुबह आईजीएमसी लाकर एडमिट किया गया है। शिमला के कोरोना के तीन मरीज भर्ती होने के बाद शहर भर में एक बार फिर से हड़कंप मच गया है। ऐसे में लोग भी काफी सहमे हुए हैं। इसी बीच शहर की सफाई व्यवस्था को और बेहतर बनाने में निगम प्रशासन किसी तरह की कोई कमी नहीं रखना चाह रहा है। शिमला में जैसे ही लोगों के कोरोना वायरस के मरीजों के सूचना मिली शहर भर में खौफ का माहौल हो गया। इसी बीच लोगों में किसी तरह का हड़कंप न मचे, इसे देखते हुए निगम प्रशासन ने रविवार को शिमला के आईजीएमसी अस्पताल को अच्छी तरह से सेनेटाइज करना बहुत जरूरी समझा। कर्मचारियों को भी निर्देश दिए गए कि वे बिना समय गंवाए यह कार्य करें। न केवल आईजीएमसी बल्कि निगम प्रशासन ने शिमला से लेकर शोघी तक की सड़कों को सेनेटाइज किया।