Wednesday, October 16, 2019 02:11 AM

आईपीएच में जलरक्षकों की बैकडोर एंट्री

राठौर ने मंत्री महेंद्र सिंह को घेरा, बिंदल पर भी जड़े गंभीर आरोप

शिमला - हिमाचल प्रदेश कांग्रेस ने विधानसभा के उपचुनाव में सरकार द्वारा सत्ता का दुरूपयोग करने का आरोप लगाने के साथ विधानसभा अध्यक्ष डा. राजीव बिंदल और आईपीएच मंत्री महेंद्र सिंह की भी घेराबंदी की है। राठौर ने आरोप लगाया है कि आईपीएच विभाग में जलरक्षकों की भर्ती में बैकडोर एंट्री की जा रही है, वहीं विधानसभा के अध्यक्ष डा. राजीव बिंदल अपने पद के अनुरूप काम नहीं कर रहे हैं। कांगे्रस ने सिरमौर के जिलाधीश की भी चुनाव आयोग से शिकायत की है, जिन्हें तत्काल हटाने की मांग पार्टी की ओर से हुई है। बुधवार को यहां पत्रकारों को संबोधित करते हुए कांग्रेस अध्यक्ष कुलदीप सिंह राठौर ने कहा कि आईपीएच मंत्री महेन्द्र सिंह ठाकुर को तुरंत उनके पद से हटाया जाना चाहिए। उन्होंने मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर से उन्हें हटाने की मांग करते कहा कि आईपीएच मंत्री का पद पर बने रहना सीएम की सेहत के लिए ठीक नहीं है।  कांग्रेस अध्यक्ष ने आरोप लगाया कि महेंद्र सिंह ने न केवल बागबानी विभाग के प्रोजेक्ट को लटकाया है, बल्कि सिंचाई विभाग में जलरक्षकों की नियुक्ति में भी बड़े पैमाने पर भेदभाव हो रहा है। इसमें बैकडोर एंट्री चल रही है। उन्होंने विधानसभा अध्यक्ष डा. राजीव बिंदल पर संवैधानिक पद पर बैठने के बाद भी भाजपा के लिए प्रचार करने का आरोप लगाया है और कहा है कि पच्छाद हलके में महेंद्र सिंह और डा. बिंदल का कांग्रेस कार्यकर्ता घेराव करेंगे और उन्हें काले झंडे दिखाएंगे।

मुख्यमंत्री का कंट्रोल नहीं

पार्टी अध्यक्ष ने कहा कि महेंद्र सिंह बागबानी विरोधी हैं और सेब बागबान परेशानी में है, जिसकी मंत्री को कोई चिंता नहीं है। बागबानी मिशन के तहत होने वाले सेब बागबानी के कार्य ठप पड़े हैं। राठौर ने कहा कि मंत्री का व्यवहार ऐसा है कि उन पर मुख्यमंत्री का भी नियंत्रण नहीं है।