Sunday, July 05, 2020 05:59 AM

आज से सुबह आठ से तीन बजे तक खुलेंगी दुकानें

व्यापार मंडल हमीरपुर ने बैठक में लिया अहम फैसला, हमीरपुर कर्फ्यू ढील से एक घंटा पहले बंद करेगा दुकानें

हमीरपुर-कोरोना महामारी को देखते हुए जहां जिला प्रशासन ने दुकानदारों को आठ घंटे की ढील दे रखी है। वहीं जिला में कुछ व्यापार मंडलों ने खुद ही आपसी सहमति से दुकानें एक घंटा पहले बंद करने का निर्णय लिया है। हमीरपुर जिला में इसकी शुरुआत सुजानपुर व्यापार मंडल ने की थी। उसके बाद नादौन और टौणीदेवी व्यापार मंडल आगे आया। अब हमीरपुर व्यापार मंडल भी कर्फ्यू ढील से एक घंटा पहले दुकानें बंद करेगा। बता दें कि इसी मसले को लेकर व्यापार मंडल हमीरपुर की बैठक प्रधान अनिल सोनी और चेयरमैन विपिन शर्मा की अध्यक्षता में शनिवार को आयोजित की गई। बैठक में सर्वसहमति से निर्णय लिया गया कि सोमवार से सुबह आठ से तीन बजे तक सभी हमीरपुर कमेटी एरिया के व्यापारिक प्रतिष्ठान खुलेंगे। व्यापारियों के स्वास्थ्य को ध्यान में रखते हुए यह निर्णय लिया गया है। उन्होंने सभी व्यापारियों से आग्रह किया है कि सोमवार से सभी व्यापारी सुबह आठ से तीन बजे तक ही अपनी दुकानें खोलें, यह निर्णय 31 मई तक लागू रहेगा और आगे का निर्णय दुकानें खोलने का प्रशासन से बात करके बता दिया जाएगा। कोरोना के बढ़ते मरीजों की संख्या से व्यापार मंडल चिंतित है और जब तक कोई सार्वजनिक परिवहन शुरू नहीं है, जिससे लोगों का आना-जाना भी कम हो रहा है। अतः व्यापारियों की स्वास्थ्य की चिंता को देखते हुए व्यापार मंडल ने हमीरपुर में दुकानें खुलने का समय सुबह आठ से तीन बजे तक किया है। इसमें दवाई की दुकानें शामिल नहीं होंगी, बाकि सभी तरह की दुकानों का टाइम तीन बजे तक के लिए किया गया है। व्यापार मंडल लोगों से भी अपील करता है कि जब भी बाजार आएं, तो मास्क और सेनेटाइजेशन और उचित दूरी का विशेष ध्यान रखें। व्यापार मंडल सभी से आग्रह करता है कि सतर्क रहें, स्वस्थ रहें और सुरक्षित रहें।

31 मई तक लागू रहेगा फैसला

उन्होंने सभी व्यापारियों से आग्रह किया है कि सोमवार से सभी व्यापारी सुबह आठ से तीन बजे तक ही अपनी दुकानें खोलें, यह निर्णय 31 मई तक लागू रहेगा और आगे का निर्णय दुकानें खोलने का प्रशासन से बात करके बता दिया जाएगा। कोरोना के बढ़ते मरीजों की संख्या से व्यापार मंडल चिंतित है और जब तक कोई सार्वजनिक परिवहन शुरू नहीं है, जिससे लोगों का आना-जाना भी कम हो रहा है।