Monday, April 06, 2020 06:38 PM

आधा दर्जन रेहडि़यां जब्त, डेढ़ दर्जन हटवाई

नालागढ़ नगर परिषद ने शहर से खदेड़े अतिक्रमणकारी

नालागढ़ -नगर परिषद नालागढ़ ने शहर से आधा दर्जन रेहडि़यां जब्त की हैं, जबकि डेढ़ दर्जन रेहड़ी-फड़ी वालों को खदेड़ा है। नगर परिषद की इस कार्रवाई में खुले में कूड़ा फेंकने वाले दुकानदारों व लोगों को भी कड़ी चेतावनी जारी की है कि खुले में कूड़ा न फेंके, अपितु नगर परिषद के सफाई कर्मचारियों को ही कूड़ा दें, अन्यथा उनके खिलाफ भी कड़ी कार्रवाई की जाएगी। नालागढ़ शहर में अतिक्रमण को लेकर परिषद के चले हुए बड़े स्तर के अभियान के तहत नगर परिषद कोई कोर कसर नहीं छोड़ रही है। मंगलवार को नगर परिषद के जेई ललित कटोच की अगवाई में परिषद टीम ने नालागढ़ शहर का दौरा किया और, जहां रेहड़ी-फड़ी को हटवाया गया, वहीं आधा दर्जन रेहडि़यां जब्त की हैं। जब्त की गई रेहडि़यों पर जुर्माना लगाया जाएगा। जानकारी के अनुसार नगर परिषद नालागढ़ शहर के सौंदर्यीकरण को लेकर पूरी तरह से सजग हैं और नालागढ़ शहर में, जहां अवैध रूप से चल रही रेहड़ी-फडि़यों को हटवाने के साथ दुकानदारों का सामान दुकानों के अंदर करवाया गया, वहीं हाई-वे किनारे दुकानों के छज्जे भी तुड़वाए गए हैं। शहर की सड़कों को खुला डुला रखने और शहर को अतिक्रमण मुक्त रखने की मुहिम में परिषद के अधिकारी व कर्मचारी शहर का दौरा करते हैं और अतिक्रमणकारियों पर कड़ी कार्रवाई अमल में ला रहे हैं। नगर परिषद के जेई ललित कटोच ने बताया कि बारंबार चेतावनी के बावजूद भी रेहड़ी-फड़ी धारक शहर में आते हैं और मंगलवार को की गई कार्रवाई में आधा दर्जन रेहडि़यां जब्त की गई हैं, जिन पर नियमानुसार जुर्माना लगाया जाएगा, जबकि डेढ़ दर्जन रेहड़ी-फड़ी वालों को न केवल हटाया गया है, अपितु कड़ी चेतावनी भी जारी की गई है कि यदि भविष्य में वह शहर में नजर आए तो उनकी रेहड़ी-फड़ी सहित सामान भी जब्त कर लिया जाएगा। उन्होंने कहा कि देखा गया है कि सफाई कर्मचारियों के शहर को स्वच्छ बनाने के बाद भी लोग व दुकानदार खुले में कूड़ा-कचरा फेंक देते हैं, जिस पर उन्हें आगाह किया गया है, अन्यथा ऐसा करने पर उनके खिलाफ भी कड़ी कार्रवाई होगी। परिषद के अतिरिक्त कार्यकारी अधिकारी एवं तहसीलदार ऋषभ शर्मा ने कहा कि नालागढ़ शहर को अतिक्रमण मुक्त बनाने और इसके सौंदर्यीकरण को लेकर किसी भी प्रकार की कोताही बर्दाश्त नहीं होगी और परिषद कड़ी कार्रवाई अमल में ला रही है।