Sunday, July 25, 2021 09:21 AM

आपदा से निपटने को सभी विभाग हो जाएं अलर्ट

दिव्य हिमाचल ब्यूरो — कुल्लू जिला कुल्लू में कार्यरत डीएस ड्रिंक एंड बेवरेज कंपनी ने कोरोना संकट को देखते हुए स्वास्थ्य विभाग को पांच ऑक्सीजन कंसंट्रेटर प्रदान किए हैं, ताकि कोरोना संकट के बीच ऑक्सीजन की कमी से जूझ रहे मरीजों को राहत मिल सके। कंपनी के कर्मचारी व अधिकारियों ने कुल्लू अस्पताल में सीएमओ डा. सुशील चंद्र शर्मा को ऑक्सीजन कंसंट्रेटर प्रदान किए। सीएमओ कुल्लू डा. सुशील चंद्र शर्मा ने भी ऑक्सीजन कंसंट्रेटर मिलने पर कंपनी प्रबंधन का आभार व्यक्त किया है।

डा. सुशील चंद्र शर्मा ने बताया कि जिला में कोरोना संक्रमण से ठीक होने वालो की दर में बढ़ोतरी हुई है तो वहीं कोरोना का पॉजिटिविटी रेट भी अब दो प्रतिशत से कम रह गया है, जो कि जिला के लिए राहत की बात है। जिला के ग्रामीण इलाकों में अब कोरोना सैंपलिंग को भी बढ़ाया गया है तथा ग्रामीण क्षेत्रों के लोग भी स्वास्थ्य विभाग का इसमें सहयोग कर रहे हैं। अब जिला में बहुत कम लोग कोरोना पॉजिटिव आ रहे हैं, जो कि जिला के लिए राहत की बात है। वहीं, कंपनी के अधिकारी जेएन मिश्रा ने सीएमओ को अपने अन्य कर्मचारियों के साथ ऑक्सीजन कंसंटे्रटर देने के बाद कहा कि कोविड-19 की लहर ने आम जनता के साथ साथ उद्योग जगत को भी काफी प्रभावित किया है। फिर भी कैच कंपनी की और से हमेशा जरूरतमंदों की मदद के समय अपना योगदान देने में खड़ी रहती है। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य विभाग सहित ग्राम पंचायत रायसन में भी जनता की मदद के लिए कंपनी हमेशा सहयोग कर रही है। उन्होंने कहा कि आगे भी कंपनी जरूरत पडऩे पर इसी तरह से सहयोग करती रहेगी। उन्होंने प्रशासन सहित रायसन पंचायत का भी सहयोग व मार्गदर्शन के लिए अपना आभार जताया। इस दौरान कैच कंपनी के कर्मचारी अर्जुन सहित अन्य कर्मी भी उपस्थित रहे।

महंगाई को लेकर कुल्लू-आनी में कांग्रेस ने किया धरना-प्रदर्शन, सरकार के खिलाफ की नारेबाजी

दिव्य हिमाचल ब्यूरो — कुल्लू अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के निर्देशानुसार शुक्रवार को जिला कांग्रेस कमेटी कुल्लू ने राष्ट्रीय स्तरीय साकेतिक धरना-प्रदर्शन किया। यह धरना-प्रदर्शन जिला कांग्रेस कमेटी कार्यालय से शुरू होते हुए सरवरी से पेट्रोल पंप अखाड़ा बाजार तक हुआ। इस धरना-प्रदर्शन में कोरोना प्रोटोकॉल के नियमों का पालन किया गया व सीमित संख्या में ही कांग्रेस पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं ने हिस्सा लिया। जिला कांग्रेस कमेटी के महामंत्री चुनेेश्वर ठाकुर ने इस मौके पर कहा कि पेट्रोल, डीजल की महंगाई अपने इतिहास में सबसे ज्यादा हो गई है, जिसका सबसे ज्यादा बुरा प्रभाव गरीब आदमी और मध्यम वर्गीय परिवार के लोगों पर पड़ता है। क्योंकि तब दालों की कीमतों, खाद्य सामग्री की कीमतों पर भी महंगाई बढ़ती है और डीजल की कीमतों में बढ़ोतरी से किसानों की खेती पर भी लागत बढ़ जाती है। उन्होंने कहा कि क्या यही हैं मोदी सरकार के अच्छे दिन। आज देश में इतनी महंगाई हो गई है कि अब आम आदमी को अपने अस्तित्व को लेकर चिंता होने लगी है। वैसे ही देश में कोरोना के इस दौर में लोगों के रोजगार खत्म हो गए हैं, तो मोदी सरकार ऐसे वक्त में पेट्रोल और डीजल की महंगाई बढ़ाकर जख्मों पर नमक छिड़क रही है।

इस मौके पर जिला महिला कांग्रेस अध्यक्ष अरुणा ठाकुर ने कहा कि पेट्रोल डीजल की कीमतों में बढ़ोतरी से महिलाओं के घर का बजट बिगड़ गया है। न सिर्फ रसोई गैस की कीमतें बढ़ी हैं, बल्कि दालों की कीमत में बेतहाशा वृद्धि हुई है। सरसों का तेल अब बजट से बाहर होता जा रहा है, महंगाई इतना भयंकर रूप ले चुकी है कि अब तो डिपो में भी राशन, खाने का तेल खरीदना महंगा हो गया है। अगर केंद्र की मोदी सरकार पेट्रोल और डीजल की कीमतों को वापस नहीं लेती है तो आने वाले वक्त में कांग्रेस सड़कों पर उतर कर अपना प्रदर्शन जारी रखेगी। इस धरना-प्रदर्शन जिला कांग्रेस कमेटी के कोषाध्यक्ष मदन सूद, जिला कांग्रेस कमेटी के महासचिव व मीडिया प्रभारी राजेश कुमार शानू, निहाल ठाकुर, संजय गुप्ता, जिला कांग्रेस कमेटी अल्पसंख्यक समुदाय के अध्यक्ष राहुल बोध, जिला कांग्रेस महिला कांग्रेस उपाध्यक्ष युमा नेगी, जिला परिषद सदस्य व सचिव जिला कांग्रेस कमेटी कुल्लू बीर सिंह ठाकुर, नगर परिषद सदस्य व जिला कांग्रेस कमेटी कुल्लू कुब्जा ठाकुर, निर्मला देवी, विधानसभा उपाध्यक्ष सुख चंद ठाकुर, विजेंद्र पंडित, सोशल मीडिया संयोजक चेतन ठाकुर, कार्तिक चौधरी, जिला एनएसयूआई अध्यक्ष थॉमस जॉर्डन, प्रणय शर्मा, चिराग व गौरव शर्मा भी शामिल हुए।

14 व 17 को लगेगी 18 से 44 वर्ष के लोगों को वैक्सीन, 17 के लिए 48 घंटे पहले होगी बुकिंग

दिव्य हिमाचल ब्यूरो — कुल्लू जिला कुल्लू में अब 14 व 17 जून को एक बार फिर से 18 से 44 साल आयु वर्ग के लोगों का कोरोना टीकाकरण किया जाएगा। अब की बार स्वास्थ्य विभाग के द्वारा स्वास्थ्य केंद्रों की संख्या को भी बढ़ाया है, ताकि अधिक से अधिक लोगों को कोरोना वैक्सीन की डोज मिल सके। 48 घंटे पहले अब कोरोना वैक्सीन के लिए ऑनलाइन बुकिंग भी शुरू कर दी जाएगी। जिला कुल्लू में 18 प्लस के लोगों के लिए 14 जून को 16 केंद्रों में व 17 जून को 17 स्थानों पर टीकाकरण किया जाएगा। कोरोना वैक्सीन के नोडल अधिकारी डा. अतुल गुप्ता ने बताया कि 18 प्लस आयुवर्ग लोगों के लिए स्लॉट बुकिंग अनिवार्य है।

बिना बुकिंग के कोई भी टीका नहीं लगाया जाएगा। पहले की तरह निर्धारित तिथि से दो दिन पहले दोपहर 2:30 से तीन बजे के बीच कोविन वेबसाइट पर स्लॉट बुक किए जा सकते हैं। डा. अतुल गुप्ता ने बताया कि वैक्सीन के लिए 18 से 44 वर्ष की आयु वालों के लिए सोमवार व गुरुवार का दिन तय किया गया है। 45 वर्ष से अधिक आयु वालों और वैक्सीन के लिए निर्धारित अग्रिम पंक्ति कार्यकर्ताओं में शामिल लोगों को पहले की तरह तय किए गए दिन में वैक्सीन लगाई जाएगी। गौर रहे कि मई माह में भी सरकार द्वारा 18 से 44 साल आयु वर्ग के लोगों के लिए कोरोना वैक्सीन के लिए स्लॉट बुकिंग की व्यवस्था की थी। अब जून माह में एक बार फिर से एक सप्ताह में दो दिनों के लिए यह बुकिंग शुरू की गई है, ताकि जिला कुल्लू में लोग कोरोना वैक्सीन की डोज ले सकें।

बिना बुकिंग किसी को नहीं लगेगा टीका कोरोना वैक्सीन के नोडल अधिकारी डा. अतुल गुप्ता ने बताया कि 18 प्लस आयुवर्ग लोगों के लिए स्लॉट बुकिंग अनिवार्य है। बिना बुकिंग के कोई भी टीका नहीं लगाया जाएगा। पहले की तरह निर्धारित तिथि से दो दिन पहले दोपहर 2:30 से तीन बजे के बीच कोविन वेबसाइट पर स्लॉट बुक किए जा सकते हैं। डा. अतुल गुप्ता ने बताया कि वैक्सीन के लिए 18 से 44 वर्ष की आयु वालों के लिए सोमवार व गुरुवार का दिन तय किया गया है।

दिव्य हिमाचल ब्यूरो — कुल्लू जिला के किसी भी भाग में किसी भी प्रकार की आपदा से निपटने के लिए सभी विभागों को उपयुक्त तालमेल के साथ एक टीम की तरह कार्य करना चाहिए। आपदा के दौरान क्षति को कम करने तथा राहत व बचाव कार्यों में प्रत्येक विभाग और व्यक्ति का योगदान आवश्यक है। यह बात उपायुक्त ऋचा वर्मा ने शुक्रवार को यहां मानसून पूर्व तैयारियों को लेकर वर्चुअल माध्यम से आयोजित जिला स्तरीय बैठक की अध्यक्षता करते हुए कही। उन्होंने कहा कि कुल्लू जिला अनेक प्रकार की आपदाओं की दृष्टि से संवेदनशील है और पहले से ही सभी विभागों को आवश्यक ऐहतियाती प्रबंध कर लेने चाहिए। उपायुक्त ऋचा वर्मा ने कहा कि मानसून के दौरान बादल फटना, ल्हासे गिरना अथवा भू:स्खलन जैसी समस्याएं अधिक रहती हैं।

उन्होंने संबंधित विभागों को आपदा की दृष्टि से जिले के संवेदनशील स्थलों को चिन्हित करके इसकी रिपोर्ट सौंपने को कहा। उन्होंने लोक निर्माण विभाग को जिले में वैकल्पिक संपर्क सड़कों का भी समय पर उचित रख-रखाव करने को कहा। अधीक्षण अभियंता लोक निर्माण ने अवगत करवाया कि जिला की विभिन्न पांच सड़कें काफी संवेदनशील हैं। उन्होंने कहा कि विभाग के पास 750 मजदूर तथा पर्याप्त संख्या में जेसीबी, डोजर व टिप्पर उपलब्ध हैं। मशीनरी को संवेदनशील सड़कों के समीप तैनात कर दिया जाएगा। उपायुक्त ने कहा कि किसी भी आपदा में पुलिस फस्र्ट रिस्पोंडर के तौर पर कार्य करती है। ऐसे में पुलिस व होम गार्ड को अपनी टीमें तैयार रखनी चाहिए। डीसी को अवगत करवाया गया कि जिला में 67 होम गार्ड की सात बचाव टीमें बनाई गई हैं, जिन्हें जरूरत प?ने पर बुलाया जा सकता है। उपायुक्त ने कहा कि जिला में सभी सरकारी भवन, स्कूल व अन्य प्रमुख भवनों में फायर उपकरण सही हालत में रहने चाहिए। हितधारकों को इनके संचालन बारे जानकारी प्रदान की जाए। उन्होंने सभी खंड विकास अधिकारियों से पंचायत स्तर पर ऐसे सरकारी भवनों को चिन्हित करने को कहा, जिन्हें आपदा के दौरान शैल्टर होम बनाया जा सके। उपायुक्त ने जिला के समस्त एसडीएम को संबंधित उपमंडलों में बरसात की तैयारियों को लेकर बैठकें आयोजित करने को कहा। उन्होंने कहा कि राहत व बचाव कार्यों के दौरान कोविड-19 के प्रोटोकोल को भी ध्यान में रखना होगा। उन्होंने बीएसएनएल से शैडो क्षेत्रों में सिग्नल को समय रहते दुरुस्त करने के निर्देश दिए। बैठक में अतिरिक्त जिला दंडाधिकारी एसके पराशर, एसडीएम मनाली रमन घरसंगी व एसडीएम कुल्लू डा. अमित गुलेरिया जिला मुख्यालय में मौजूद रहे, जबकि अन्य अधिकारि भी वर्चुअल जुड़े रहे।

आपदा की सूचना 1077 पर दें उपायुक्त ने कहा कि जिला के किसी भी भाग में किसी भी प्रकार की आपदा की रिपोर्ट तुरंत से टॉल फ्री नंबर 1077 पर दी जानी चाहिए।