Thursday, November 14, 2019 02:10 PM

आरोपी को 14 दिन के रिमांड पर भेजा

अंब - मानसा पटियाला (पंजाब ) के कुछ लोगों को हमारे अवैध संबधों का पता चल जाने पर वह हमें जान से मारना चाहते थे। इसलिए उनके हाथों मरने के बजाये हम दोनों ने किसी धार्मिक स्थल में जाकर आत्महत्या करने की योजना बनाई थी, लेकिन उनकी योजना अनुसार प्रेमिका तो मर गई लेकिन दुर्भाग्यवश मैं बच गया। यह बात मैड़ी में एक महिला की इंजेक्शन लगाकर हत्या करने के आरोप में पकड़े गए आरोपी ने पुलिस रिमांड के दौरान कही है। वहीं, आरोपी को गुरुवार को कोर्ट में पेश करने पर कोर्ट ने उन्हें 14 दिन के ज्यूडीशियल रिमांड पर भेज दिया है। उल्लेखनीय है की आरोपी के महिला के साथ एक वर्ष से अवैध सबंध चले हुए थे। इसकी भनक दोनों परिवारिक सदस्यों को लग गई थी। दोनों को समझाने का पूरा प्रयास किया गया, लेकिन उनके प्यार के आगे परिवारजनों की सभी कोशिशें फीकी पढ़ गई। उसके बाद महिला की तरफ से गुस्साए लोगों ने दोनों को जान से मारने की धमकियां देने शुरू कर दी। इसके चलते दोनों भय में जी रह थे। एक दिन दोनों ने मानसा से भाग कर धार्मिक स्थल मैड़ी में आत्महत्या करने की योजना बना ली और उसे सिरे चढ़ाने के लिए पहली अक्तूबर को मैड़ी में पहुंच गए। यहां पहुंच उन्होंने एक कमरा किराए पर ले लिया। अगले दिन पहले प्रेमिका को जहरीला इंजेक्शन लगाने के बाद उसकी हत्या हो गई। उसके बाद आरोपी ने भी इंजेक्शन लगाकर आत्महत्या करने की कोशिश की। लेकिन इंजेक्शन से लहुलुहान होने के बाद जब दर्द होने के बाद कमरे से बाहर आया तो लोगों ने शक खाकर उन्हें पकड़ लिया। आरोपी ने बताया कि अब वह जीना नहीं चाहता है। उधर, डीएसपी मनोज जम्वाल ने बताया कि मैड़ी केस के आरोपी को कोर्ट से 14 दिन का रिमांड मिला है।