Wednesday, July 17, 2019 08:53 PM

आलोचना का स्तर गिरा

 रूप सिंह नेगी, सोलन

पीएम मोदी का कांग्रेस पर एक ही परिवार को श्रेय देने और राव-मनमोहन को नहीं देने की बात में कितनी सच्चाई है, यह जनता बेहतर जानती होगी, लेकिन पिछले पांच सालों से नेहरू-गांधी परिवार की आलोचना होते रहना भी दुर्भाग्य की बात है। हमेशा सिर्फ कांग्रेस एवं नेहरू-गांधी परिवार की आलोचना कर एक ही परिवार के लोगों की इज्जत उतारने में कसर नहीं छोड़ने के पीछे शायद सत्ता पर काबिज होना एकमात्र मकसद रहा होगा। अफसोस की बात है कि कुछ सालों से फिजूल की बातें, झूठे दावों को कई माध्यमों से फैलाकर जनता को गुमराह करने का काम जोरों पर होने लगा है। लोकतंत्र में नकारात्मक आलोचनाओं के लिए कोई स्थान नहीं होना चाहिए।