Tuesday, November 19, 2019 02:56 AM

इन्वेस्टर मीट से उम्मीदें

सुरेश शर्मा 

लेखक, नगरोटा बगवां से हैं

हिमाचल प्रदेश के इतिहास में पहली बार बड़े पैमाने पर ग्लोबल इन्वेस्टर मीट का आयोजन हो रहा है। आशाओं, आकांक्षाओं व भविष्य को उज्ज्वल बनाने तथा प्रदेश में विकास की इबारत लिखने के लिए प्रदेश सरकार 7 व 8 नवंबर, 2019 को स्मार्ट सिटी धर्मशाला में इस महा आयोजन को अंजाम देने जा रही है। इस ड्रीम प्रोजेक्ट पर सरकार लगभग एक वर्ष से प्रदेश, राष्ट्रीय तथा अंतरराष्ट्रीय स्तर पर जी तोड़ मेहनत कर रही है। प्रदेश के माननीय मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर स्वयं अंतरराष्ट्रीय निवेशकों व औद्योगिक घरानों को प्रदेश में आर्थिक निवेश करने हेतु आकर्षित करने के लिए काफी होमवर्क  कर चुके हैं। मुख्यमंत्री के नेतृत्व में मंत्रिमंडल के सभी सदस्य, आला प्रशासनिक अधिकारियों तथा जिला प्रशासन ने इस महा आयोजन की सफलता के लिए कमर कस ली है। स्मार्ट सिटी धर्मशाला में  आयोजित होने वाले औद्योगिक व आर्थिक निवेश के इस महाकुंभ में 11,000 से भी अधिक निवेशकों के शामिल होने की संभावना है। इस आयोजन में जहां देश-विदेश से लगभग 1500 प्रतिनिधियों के भाग लेने की आशा है, वहीं पर इसे सफल बनाने के लिए प्रदेश व देश के लगभग 400 आला अधिकारियों की नियुक्ति हो चुकी है। धर्मशाला के आसपास क्षेत्रों में बड़े तथा छोटे सभी होटलों में करीब 1250 कमरे बुक किए जा चुके हैं। संयुक्त अरब अमीरात की पार्टनरशिप में आयोजित होने वाली इस इन्वेस्टर मीट में लगभग 16 देशों के व्यापार प्रतिनिधियों के भाग लेने की उम्मीद है। इस महा आयोजन में 50 करोड़ से भी अधिक राशि खर्च होने वाली है तथा सरकार द्वारा लगभग 83,000 करोड़ से भी अधिक राशि का प्रदेश में निवेश का लक्ष्य रखा गया है। प्रदेश सरकार द्वारा आयोजित इस महाआयोजन का शुभारंभ देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा किया जाएगा। समापन में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह मुख्य अतिथि होंगे। इन दो दिनों में केंद्रीय मंत्रिमंडल के कई दिग्गज मंत्रियों तथा देश के कई निवेशकों व बड़े घरानों के उद्योगपतियों और फिल्मी सितारों के भाग लेने की आशा है। ग्लोबल इन्वेस्टर मीट में सरकार अधिक निवेश के लिए निवेशकों को आकर्षित करेगी तथा प्रदेश के विभिन्न विभागों द्वारा प्रदर्शनियों तथा प्रदेश की सांस्कृतिक विरासत के प्रदर्शन के लिए कार्यक्रम का आयोजन करेगी। प्रदेश में हाइड्रो प्रोजेक्टस, आयुष तथा पर्यटन के क्षेत्र में अपार संभावनाएं हैं। प्रस्तावित इन्वेस्टर मीट से प्रदेश के लोगों को बहुत सी उम्मीदें हैं, विशेषकर प्रदेश के युवाओं को इन सभी क्षेत्रों में रोजगार के अवसर पैदा होने की आशा है। यह महा आयोजन प्रदेश में होने वाली एक महत्त्वपूर्ण ऐतिहासिक घटना है जिससे कि प्रदेश की आर्थिकी, निवेश तथा युवाओं को रोजगार के अवसर जुटाने का अवसर मिलेगा। इन्वेस्टर मीट के बहाने देश व विदेश की बड़ी-बड़ी औद्योगिक घरानों की हस्तियां, कई देशों के राजदूत, केंद्र सरकार के दिग्गज मंत्री, प्रशासनिक अधिकारी तथा राजनेताओं का आगमन होगा जो कि पर्यटन नगरी तथा स्मार्ट सिटी धर्मशाला के लिए भी एक ऐतिहासिक अवसर है।