Friday, August 14, 2020 01:21 PM

ईदगाह में पुलिस का सर्च आपरेशन

शिमला - राजधानी शिमला के ईदगाह क्षेत्र में रविवार रात को पुलिस का सर्च आपरेशन चला। तबलीगी जमात से जुड़े लोगों को ढूंढ़ने के लिए पुलिस ने यहां पर दबिश दी। सदर थाना से करीब 40 पुलिस कर्मचारी यहां पूरी ईदगाह में फैल गए, जिन्होंने लोगों के घरों में जाकर दबिश दी और उनका नाम पता लिखा। उनसे पूछा गया कि वह कहां से हैं और कब से यहां पर रह रहे हैं। उनके यहां पर कौन-कौन हैं और कोई बाहर से आया है या नहीं। बताया जाता है कि पुलिस को इस सर्च आपरेशन में कुछ नहीं मिला। मगर पुलिस ने एहतियात के तौर पर सभी को कहा कि कोई भी व्यक्ति बाहर से आए तो उसकी जानकारी दें। तबलीग से जुड़े किसी भी व्यक्ति की जानकारी भी पुलिस ने तुरंत देने को कहा है। बतादें कि शहर के ईदगाह क्षेत्र में बड़ी संख्या में मुस्लिम समुदाय के लोग रहते हैं। यहां पर अधिकांश संख्या बाहरी राज्य के मुस्लिमों की है जो यहां पर रह रहे हैं। वक्फ बोर्ड की जमीन पर लोगों ने यहां मकान बना रखे हैं। यहां पर रहने वाले बाहरी राज्य के लोग अधिकांश कामगार हैं जो अलग-अलग तरह का काम करते हैं। कोरोना वायरस के चलते कर्फ्यू के दौरान यहां पर लोग पूरी एहतियात बरत रहे हैं मगर पुलिस की जिम्मेदारी है कि वह समाज की रक्षा करे। इसी के मद्देनजर पुलिस के कर्मचारी रात को यहां पर पहुंचे और उन्होंने अपना सर्च अभियान चलाया।  यहां कई लोगों से कुछ विशेष तरह की जानकारियां ली गईं। बता दें कि दिल्ली की निजामुद्दीन मरकज से लौटने वाले मुस्लिम लोग हैं और हिमाचल में 329 लोग अभी तक सामने आए हैं जिनको क्वारंटाइन कर दिया गया है। लगातार पुलिस इनकी तलाश में जुटी है। मुस्लिम समाज को चाहिए कि वह ऐसे लोगों की जानकारी दें ताकि उस व्यक्ति के साथ समाज को भी बचाया जा सके। शिमला में कई और जगहों पर भी पुलिस लगातार अपनी दबिश दे रही है। इसी तरह से जिला के दूसरे क्षेत्रों में भी पुलिस का अभियान चल रहा है। बताया जाता है शिमला शहर के जंगलों में भी पुलिस ने छानबीन की है कि कहीं कोई तबलीगी यहां आकर छिपा तो नहीं है। क्योंकि आईबी की रिपोर्ट के अनुसार करीब 700 लोेग तबलीगी जमात में हिमाचल के थे और अभी तक पुलिस के सामने केवल 329 लोग ही आए हैं। ऐसे में दूसरे लोगों को ढूंढ़ने के लिए पुलिस ने अपनी कार्रवाई तेज कर रखी है जिसका नतीजा बहुत जल्द सामने आएगा।