Wednesday, June 26, 2019 11:12 AM

उड़न खटोले से खफा लाहुल

केलांग—लाहुल-स्पीति के लिए हेलिकाप्टर की उड़ानें नियमित तौर पर न होने के कारण अब घाटी के लोगों ने निजी चौपर को किराए पर लेने का मन बनाया है। लाहुल के कुछ लोगों ने प्रशासन से इस संबंध में निजी चौपर की उड़ान को लेकर जहां अनुमति मांगी है, वहीं लोगों का कहना है कि प्रदेश सरकार के हेलिकाप्टर की उड़ाने जहां नियमित तौर पर घाटी के लिए नहीं हो पा रही है, वहीं गत तीन माह से लोग दिक्कतों का सामना कर रहे हैं। ऐसे में अब लोगों ने अपने खर्चे पर लाहुल के लिए हेलिकाप्टर को किराए पर लेने का मन बनाया है। प्रशासन से अनुमति मिलते ही लोग जहां निजी चौपर के माध्यम से घाटी से बाहर आएंगे, वहीं उन्हें सरकार के हेलिकाप्टर पर निर्भर नहीं रहना पड़ेगा। ऐसा पहली बार हो रहा है जब स्थानीय लोगों ने प्रशासन से निजी चौपर को उतारने की अनुमति की मांग की है। उल्लेखनीय है कि शेष विश्व से कटे लाहुल-स्पीति में जहां इस बार हवाई उड़ानों को लेकर जमकर हंगामा हो रहा है, वहीं नियमित उड़ानें न होने से तंग लोगों ने अब किराए पर चौपर लेने का मन बनाया है। लोगों ने प्रशासन से हेलिकाप्टर को घाटी में उतारने की जहां अनुमति मांगी है, वहीं यह भी मांग की है कि उन्हें कुछ दिनों तक लाहुल में निजी चौपर को उतारने की अनुमति दी जाए। लोगों का कहना है कि लाहुल-स्पीति के लिए हो रही हवाई उड़ानों ने इस बार लोगों को खासा परेशान किया है। शेड्यूल होने के बावजूद जहां हेलिकाप्टर की उड़ानें नहीं हो पा रही हैं, वहीं खराब मौसम भी उड़ानों पर भारी पड़ रहा है। लिहाजा अब लोगों ने मन बना डाला है कि लाहुल की उड़ानों के लिए निजी चौपर को वह किराए पर ले घाटी में आने-जाने की व्यवस्था करें। यहां बता दें कि लाहुल में जहां हाल ही में कुछ मरीजों को एयर लिफ्ट करने के लिए निजी चौपर का सहारा लिया गया था, वहीं यह उड़ानें प्रशासन के आग्रह पर जीएडी ने करवाई थी। ऐसे में अब लोगों ने प्रशासन से निजी चौपर की उड़ान के लिए परमिशन मांगी है। उधर, उपायुक्त लाहुल-स्पीति अश्वनी कुमार चौधरी का कहना है कि प्रशासन के पास कुछ लोगांे ने निजी चौपर की उड़ानों को लेकर अनुमति मांगी है। उन्होंने बताया कि इस संबंध में उच्चाधिकारियों को भी सूचित किया गया है।