Sunday, November 17, 2019 03:48 PM

उपचुनाव…जीत को लेकर सस्पेंस बरकरार

पच्छाद में खामोश मतदाताओं ने नेताओं से बनाई दूरी, त्रिकोणीय मुकाबले ने रोचक बनाया चुनाव

सराहां -पच्छाद उपचुनाव को लेकर इलाके में उम्मीदवार की जीत को लेकर सस्पेंस लगातार बरकरार है। मतदाता खामोश हैं, जो नेताओं से लगातार दूरी बनाए हुए हैं। त्रिकोणीय मुकाबले ने चुनाव को रोचक बना दिया है। यहां चुनाव में उतरे आजाद प्रत्याशी ने सभी दलों का गणित बिगाड़ दिया है। हालत यह है कि जहां सत्ता पक्ष के आधा दर्जन के करीब मंत्री, एमएलए अपने कार्यकर्ताओं की बड़ी फौज के साथ दर-दर जाकर अपने उम्मीदवार के पक्ष में वोट मांग रहे हैं, वहीं विपक्षी पार्टी कांग्रेस भी लगभग एक दर्जन विधायकों व पूर्व विधायकों के साथ अपने प्रदेश अध्यक्ष की अगवाई में अपने वर्करों के साथ घर-घर जाकर वोट मांग रहे हैं। पच्छाद में इन दिनों मक्की की फसल की कटाई व अगली फसल लहसुन इत्यादि की बुआई का काम जोरों पर है। इसके चलते कम लोग ही बाहर निकल पा रहे हैं। ऐसे में नेताओं को भीड़ जुटाने में समस्याएं आ रही हैं। दोनों पार्टियों की गाज निजी कंपनियों पर गिर रही है जहां से जनसभाओं में नफरी बढ़ाने के लिए कामगारों को लाना पड़ रहा है। वैसे दिल को तसल्ली देने के लिए तो भीड़ अच्छी लग रही है, लेकिन वोट कितने मिलेंगे यह आम लोगों मंे चर्चा  का विषय बना हुआ है। इस चुनाव की अब तक कि खास बात यह सामने आ रही है कि दोनों ही पार्टियों के दिग्गज नेताओं को घर-घर व गली-गली घूमने पर मजबूर कर दिया। इससे एक बात यह निकल कर सामने आ रही है कि बाहर से आ रहे नेताओं को पच्छाद की असली तस्वीर देखने को मिल रही है। अब देखना यह है कि पच्छाद की जनता किसे सरताज बनाती है। यह 24 अक्तूबर को सामने आ ही जाएगा।