Saturday, April 20, 2019 01:49 PM

उरनी में जंगलों को आग से बचाने के दिए टिप्स

रिकांगपिओ—जनजातीय क्षेत्र जिला किन्नौर में वन विभाग द्वारा वनों को आग से बचाने के लिए लोगों को जागरूक करने के लिए जिला के विभिन्न क्षेत्रों में जागरूकता कार्यक्रमों का आयोजन किया जा रहा है । इसी कड़ी में वीरवार को उरनी पंचायत क्षेत्र में एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन वन विभाग किन्नौर के कल्पा रेंज द्वारा किया गया। इस कार्यशाला मे वन परिक्षेत्र अधिकारी विनोद रंटा सहित अन्य विभागीय  अधिकारियों ने लोगों को वनो को किस प्रकार से आग की धटनाओं से बचाया जा सकता है उस बारे में विस्तार से जानकारी दी । उन्होंने कहा कि वन हमारी संपदा है तथा इसको बचाना हम सभी का कर्त्तव्य है।  उन्होंने कहा कि वर्तमान समय में वनों में आग की घटनाओं से करोड़ों की वन संपदा हर वर्ष नष्ट हो रही है और यदि समय रहते इसको रोका नहीं गया तो तो वनों में  पाई जाने वाली कई प्रकार की अमूल्य औषधियां तेजी से नष्ट हो जाएंगी। इस दौरान उन्होंने लोगों से वनों को आग से बचाने का आह्वान किया तथा यह भी बताया कि अगर किसी कारण वश जंगल में आग लग जाए तो उस पर किस तरह नियंत्रण किया जा सकता है उस की भी जानकारी दी। इस कार्यशाला में क्षेत्र के सैकड़ों ग्रामीणों के साथ-साथ स्कूली बच्चों ने भी भाग लिया तथा इस दौरान स्कूली बच्चों द्वारा पौधारोपण भी किया गया।  इस कार्यशाला में  वन खंड अधिकारी कल्पा मोहन नेगी, उरनी भगवान सिंह सहित वन रक्षको के अलावा पंचायत प्रधान उरनी गीता ज्ञानी, पंचायत प्रधान यूला कुंदन लाल नेगी, पंचायत प्रधान मीरू किरण कुमारी,  चगांव, उरनी, यूला के उपप्रधानो, महिला मंडल के प्रधानों व सदस्यों सहित राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला उरनी के छात्र-छात्राओं ने भाग लिया।