Wednesday, August 12, 2020 05:55 AM

ऊना में ऐसे करें डायबिटीज पर कंट्रोल

ऊना - स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग जिला ऊना द्वारा विश्व मधुमेह दिवस के उपलक्ष्य पर जागरूकता शिविर का आयोजन राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला समूर कलां में किया गया। इसकी अध्यक्षता सीएमओ ऊना डा. रमन कुमार ने की। सीएमओ ने बताया कि पूरे विश्व में 40 करोड़ से अधिक लोग मधुमेह से पीडि़त हैं तथा भारत में सात करोड़ से अधिक लोग मधुमेह से पीडि़त हैं। प्रतिवर्ष दस लाख लोगों की इस बीमारी से मृत्यु होती है, जिस गति से भारत में इस बीमारी के रोगी बढ़ रहे हैं आने वाले समय में विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार भारत मधुमेह रोगियों की राजधानी बन जाएगा। इसलिए इस पर रोक लगाना अनिवार्य है। उन्होंने कहा कि इस वर्ष का थीम ‘परिवार तथा मधुमेह’ है। इस कार्यक्रम का उद्देश्य भी लोगों को मधुमेह के बारे में जागरूक करना है। मधुमेह से पीडि़त रोगियों को समय पर दवाई लेनी चाहिए तथा हर छह महीने पर अपनी आंखों की जांच करवानी चाहिए। जिला कार्यक्रम अधिकारी डा. सुखदीप सिंह सिद्धू ने इस अवसर पर जानकारी देते हुए बताया कि शरीर में इंसुलिन नहीं बनता तथा रोगी को जीवन भर इंसुलिन लेना पड़ता है। मधुमेह से दृष्टिदोष, गुर्दे में खराबी, हार्ट अटैक, स्ट्रोक इत्यादि होने का खतरा होता है। भारत वर्ष में जीवनशैली में परिवर्तन के कारण यह बीमारी महामारी का रूप धारण करती जा रही है।