Sunday, September 22, 2019 07:33 AM

एक्ट से बाहर हों शेष 12 गांव

मंडी -कनेड में फोरलेन संघर्ष समिति द्वारा फोरलेन प्रभावित किसानों का मांग पत्र अध्यक्ष जोगिंद्र वालिया की अगवाई में आईपीएच मंत्री एवं अध्यक्ष कैबिनेट सब-कमेटी (नगर एवं ग्राम योजना) महेंद्र सिंह ठाकुर से मिला। इस दौरान उन्होंने मांग की  कि हिमाचल किसान सभा एवं व्यापार मंडल फोरलेन संयुक्त संघर्ष समिति चामुक्खा से भौर के बीच फोरलेन के दायरे में नगर एवं ग्राम योजना लागू होने से प्रभावित, किसानों एवं दुकानदारंों  को सुंदरनगर एवं ग्राम योजनाएं 1977 से बाहर रखा जाए, जिसको पहले चार मार्च,  2014 में लागू कर दिया गया था। इसमंे 35 राजस्व गांव लिए गए थे, लेकिन 22 अगस्त, 2016 को 17 गांव बाहर कर दिए और अब योजना के अंतर्गत 22 राजस्व गांव, जिसमें सुंदरनगर कमेटी एरिया के अलावा नौ ग्राम पंचायत के 12 गांव शामिल कर दिए गए हैं, जिनमें भौर, कनेड, चौक, जुगाहन, भ्रजवाण, महादेव घंघल, कल्होड़, ड़ोधुआ, देरदु, थल्ला ब चामुक्खा ले लिए गए हैं। व्यापार मंडल सचिव  विजय ठाकुर ने कहा कि  जल्द ही प्रशासन एवं नगर एवं ग्राम योजना अधिकारी किसानों की समस्या का निपटारा करंे। इस अवसर पर  मंडल  के प्रधान जोगिंद्र वालिया, विमला, रीता देवी, गुरिया राम नायक, भूपेंदर वालिया उप प्रधान,  व्योपार मंडल के प्रधान राजू राम सहित अन्य उपस्थित रहे।