एक नजर

बतौर कप्तान पहली सफलता पर गर्व

नई दिल्ली। ड्रैग फ्लिकर हरमनप्रीत सिंह को गर्व है कि बतौर कप्तान वह भारतीय हाकी टीम को टोक्यो में ओलंपिक टेस्ट टूर्नामेंट में खिताब दिलाने में कामयाब रहे। दुनिया की पांचवें नंबर की टीम भारत ने कुछ सीनियर खिलाडि़यों को आराम देकर युवाओं को मौका दिया था। इसके बावजूद न्यूजीलैंड को 5-0 से हराकर भारत ने खिताब जीता। हरमनप्रीत ने कहा, टीम में शामिल सभी खिलाडि़यों के लिए यह सुनहरा मौका था। कुछ अनुभवी खिलाडि़यों को आराम दिए जाने के कारण यह युवा टीम थी, लेकिन सभी कसौटी पर खरे उतरे। मुझे अपनी टीम के प्रदर्शन पर फख्र है। 

सुमित नागल क्वॉलिफायर के आखिरी दौर में

न्यूयार्क - भारत के सुमित नागल पहली बार ग्रैंडस्लैम में प्रवेश के करीब पहुंच गए हैं। उन्होंने यूएस ओपन क्वॉलिफायर के दूसरे दौर में पीटर पोलांस्की को हराया। करियर की सर्वश्रेष्ठ 190वीं रैंकिंग पर काबिज नागल ने कनाडा के 192वें रैंकिंग वाले खिलाड़ी को 7-5, 7-6 से हराया। नागल ने आक्रामक शुरुआत करते हुए दूसरे गेम में पोलांस्की की सर्विस तोड़ी, लेकिन वह अपनी सर्विस बरकरार नहीं रख सके। नागल ने हालांकि दो बार पोलांस्की की सर्विस तोड़कर पहला सेट जीत लिया। दूसरे सेट में भी मुकाबला बराबरी का रहा और टाईब्रेकर तक खिंचा। नागल ने दबाव का डटकर सामना करते हुए जीत दर्ज की। अब उनका सामना ब्राजील के जोओ मेनेजेस से होगा। पिछले साल नागल आस्ट्रेलियाई ओपन, फ्रेंच ओपन और विंबलडन क्वॉलिफायर खेले थे, लेकिन एक भी जीत दर्ज नहीं कर सके थे। 

पाक के गेंदबाजी कोच की दौड़ में वकार यूनुस 

नई दिल्ली - पाकिस्तानी क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान वकार यूनुस पाक की राष्ट्रीय टीम के गेंदबाजी कोच बनने की दौड़ में शामिल हो गए हैं। उन्होंन इस पद के लिए औपचारिक रूप से आवेदन किया। इस पद के लिए जितने भी आवेदन आए हैं, उनमें वकार सबसे जाना-पहचाना नाम है। वकार इससे पहले दो बार पाकिस्तानी क्रिकेट टीम के मुख्य कोच रह चुके हैं, लेकिन इस बार उन्होंने गेंदबाजी प्रशिक्षक के पद के लिए अर्जी दी है। पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) के तत्कालीन अध्यक्ष नजम सेठी के कार्यकाल में उन्होंने मुख्य प्रशिक्षक का पद छोड़ दिया था, जिसके बाद मिकी ऑर्थर पाकिस्तानी टीम के मुख्य प्रशिक्षक बने थे। 

लाहिती विश्वकप में खाली हाथ रहा भारत

नई दिल्ली - भारतीय निशानेबाजों ने फिनलैंड के लाहिती में हुए आईएसएसएफ शॉटगन विश्वकप में खासा निराश किया। कोई भी भारतीय निशानेबाज इस टूर्नामेंट में पदक नहीं जीत पाया। इस टूर्नामेंट में ओलंपिक कोटा भी दांव पर थे, लेकिन भारत का हाथ खाली रहा। इटली ने एक स्वर्ण और दो कांस्य सहित तीन पदक जीते और तालिका में शीर्ष पर रहा। प्रतियोगिता के अंतिम दिन इटली के लुईगी लोड्डे ने पुरुष स्कीट स्पर्धा में 125 के परफेक्ट क्वालिफिकेशन स्कोर के साथ विश्व रिकार्ड की बराबरी की और फिर फाइनल में 60 में से 55 का स्कोर किया। उन्होंने शूटऑफ में स्वर्ण पदक जीता। भारत के अननजीत सिंह नरुका 116 के स्कोर के साथ 42वें, अंगद बाजवा 113 के स्कोर के साथ 75वें और मैराज अहमद खान 112 के स्कोर के साथ 80वें स्थान पर रहे।

लांस क्लूजनर साउथ अफ्रीका के बैटिंग कोच

नई दिल्ली - पूर्व ऑलराउंडर लांस क्लूजनर को भारत के खिलाफ होने वाले टी-20 मैचों के लिए दक्षिण अफ्रीका का बल्लेबाजी कोच बनाया गया है। क्लूजनर को दुनिया के महान हरफनमौला खिलाडि़यों में गिना जाता है। उन्होंने 1999 वर्ल्ड कप में शानदार प्रदर्शन किया था। उनके अलावा विनसेंट बार्न्स को सहायक गेंदबाजी कोच और जस्टिन ऑनटांग को सहायक फील्डिंग कोच की जिम्मेदारी सौंपी गई है। ये तीनों ही टीम डायरेक्टर एनॉक न्वे की मदद करेंगे।  साउथ अफ्रीका के कार्यकारी निदेशक कॉरी वेन जिल ने बताया कि टीम के नए स्वरूप के मुताबिक, टीम डायरेक्टर ने अपने तीन सहायक कोचों की नियुक्ति की है। 

Related Stories: