एक नजर

ग्रीको रोमन में बचे हुए तीनों पहलवान भी हारे

नूर सुल्तान (कजाखस्तान)। भारतीय ग्रीको रोमन पहलवानों का विश्व कुश्ती प्रतियोगिता में निराशाजनक प्रदर्शन तीसरे दिन सोमवार को भी जारी रहा और भारत के बचे हुए तीनों पहलवान हार गए। हालांकि 130 किग्रा वर्ग में नवीन के लिए हल्की सी उम्मीद बची हुई है। 130 किग्रा के ओलंपिक वर्ग में नवीन को क्वालिफिकेशन में क्यूबा के ऑस्कर पिनो हिंड्स ने 9-0 से पराजित किया। नवीन इस मुकाबले में कोई चुनौती पेश नहीं कर सके। पिनो के इस वर्ग के सेमीफाइनल में पहुंचने के कारण नवीन की अभी रेपेचेज में पहुंचने की उम्मीद बंधी हुई है। 60 किग्रा और 77 किग्रा ओलंपिक वर्ग में भारत की चुनौती समाप्त हो गई है। 

विनेश फोगाट को मिला मुश्किल ड्रॉ

नूर सुल्तान (कजाकिस्तान)। पदक की प्रबल दावेदार भारत की विनेश फोगाट को वर्ल्ड रेस्लिंग चैंपियनशिप में कड़ा ड्रॉ मिला है और उन्हें पहले दौर में ही ओलंपिक ब्रांज मेडलिस्ट सोफिया मैटसन से भिड़ना होगा। विनेश ने वर्ल्ड चैंपियनशिप में छह बार की मेडलिस्ट सोफिया को पिछले महीने पोलैंड ओपन में हराया था, लेकिन यहां पहले दौर में स्वीडन की इस दमदार प्रतिद्वंद्वी का सामना करना आसान नहीं होगा। सोफिया भारतीय उम्मीदों की राह में बड़ा रोड़ा है। वह 55 किग्रा में विश्व में पांचवें नंबर पर हैं, जो गैर ओलंपिक भार वर्ग है। 

दिनेश कार्तिक का सीसीएल विवाद खत्म

नई दिल्ली। टीम इंडिया के विकेटकीपर बल्लेबाज दिनेश कार्तिक के कैरेबियाई प्रीमियर लीग (सीपीएल) में जाने को लेकर जो विवाद शुरू हुआ था, वो आखिरकार खत्म हो गया है। बीसीसीआई ने केंद्रीय अनुबंध का उपबंध तोड़ने के मामले में भारतीय टीम से बाहर चल रहे दिनेश कार्तिक की बिना शर्त मांगी गई माफी को स्वीकर कर लिया है। कार्तिक ने शाहरुख खान की ट्रिनबैगो नाइट राइडर्स के ड्रेसिंग रूम से कैरेबियाई प्रीमियर लीग का मैच देखकर बीसीसीआई के केंद्रीय उपबंध का उल्लंघन किया था। कार्तिक ने बीसीसीआई से नोटिस मिलने के बाद बिना शर्त माफी मांगी थी। कार्तिक इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) की कोलकाता नाइट राइडर्स टीम के कप्तान हैं। वो ड्रेसिंग रूम में ट्रिनबैगो की जर्सी में मैच देखते नजर आए। बीसीसीआई के केंद्रीय अनुबंध के मुताबिक देश के लिए 26 टेस्ट और 94 एकदिवसीय खेलने वाले कार्तिक को इस मैच के लिए बोर्ड से मंजूरी लेनी चाहिए थी। उनका अनुबंध उन्हें किसी निजी लीग में भाग लेने की मंजूरी नहीं देता है।  

वर्ल्ड चैंपियन सिंधु की चीन ओपन पर नजर

चांग्झू (चीन)। वर्ल्ड चैंपियन शटलर पीवी सिंधु मंगलवार से यहां शुरू हो रहे 1000000 डालर इनामी चीन ओपन विश्व टूअर सुपर-1000 टूर्नामेंट में जब भारतीय चुनौती की अगवाई करेंगी, तो उनकी नजरें एक बार फिर खिताब जीतने पर होंगी। दुनिया की पांचवें नंबर की खिलाड़ी सिंधु ने पिछले महीने स्विट्जरलैंड के बासेल में वर्ल्ड चैंपियनशिप के गोल्ड मेडल का भारत का लंबा इंतजार खत्म किया। सिंधु ने विश्व चैंपियनशिप के लगातार तीसरे फाइनल में खेलते हुए यह उपलब्धि हासिल की थी। चीन ओपन 2016 की विजेता हैदराबाद की 24 साल की सिंधु अपने अभियान की शुरुआत चीन की ली शुररुई के खिलाफ करेंगी, जो पूर्व ओलंपिक गोल्ड मेडलिस्ट और दुनिया की पूर्व नंबर-1 खिलाड़ी हैं। 

बांजा लुका चैलेंजर खिताब से चूके नागल

नई दिल्ली। छठी वरीय भारत के सुमित नागल बोसनिया और हेरजेगोविना के बांजा लुका में चल रहे 48600 यूरो की ईनामी राशि वाले चैलेंजर टेनिस टूर्नामेंट के फाइनल में हॉलैंड के तालोन ग्रिक्सपुअर से पराजित होकर खिताब से चूक गए। नागल ने टूर्नामेंट में शुरुआत से बढि़या प्रदर्शन दिखाया, लेकिन पुरुष एकल के फाइनल में उन्हें विपक्षी खिलाड़ी के हाथों 91 मिनट तक चले मुकाबले में लगातार सेटों में 2-6, 3-6 से पराजय झेलनी पड़ गई। हरियाणा के झज्जर निवासी 21 वर्षीय नागल फिलहाल विश्व में 174वीं रैंकिंग पर हैं।

Related Stories: