Wednesday, August 21, 2019 03:54 AM

एक पैर पर शिव की आरती

भुंतर में सावन माह के अंतिम दिन देवालयों में उमड़ा आस्था का सैलाब, खीर भी बांटी

भुंतर -सावन माह के अंतिम सोमवार को देवभूमि के देवालय भोले बाबा के जयकारों से गंूज उठे। देवालयों में भगवान शिव के दर्शनों को भक्तों का जमावड़ा लगा और घाटी भगवान शिव की भक्ति में सराबोर हुई। जिला कुल्लू के भुंतर में स्थित भगवान वर्धंमानेश्वर मंदिर मंे सोमवार को भगवान शिव के आशीष लेने के लिए हजारों की तादाद में श्रद्धालु उमड़े। यहां पर श्रद्धालुओं ने दिनभर भजन-कीर्तन पर जश्न मनाया तो साथ ही भोले बाबा की महाआरती की गई। मंदिर में हुए कार्यक्रम की विशेषता यह रही कि पुरोहितों ने भोले बाबा का श्रृंगार व आरती एक पैर पर खड़े होकर की गई। हरीद्वार के पुरोहित ने इस प्रक्रिया को में विशेष भूमिका निभाई। तीन दिनों तक मंदिर में हवन पाठ भी किया गया और सोमवार को पूर्णाहुति डाली गई। मंदिर में भक्तों के लिए भंडारे का भी आयोजन किया गया जिसमें हजारों भक्तों ने भंडारा चखा। मंदिर के कारदार राजेश सूद ने बताया कि हर साल यहां हर साल इस प्रकार का कार्यक्रम आयोजित होता है। भुंतर के शिव मंदिर के अलावा बिजली महादेव, मणिकर्ण, बजौरा सहित अन्य स्थानों पर स्थित शिव मंदिरों में भी अंतिम सोमवार को भक्तों ने माथा टेका। जिला कुल्लू के भुंतर में स्थित शिव मंदिर में सावन माह के उपलक्ष्य में आयोजित हो रहे धार्मिक कार्यक्रम के तहत भक्तों ने रविवार को भोले बाबा के दर पर माथा टेका। इस मौके पर यहां पर भजन कार्यक्रम का आयोजन किया तो पुरोहितों द्वारा हवन पाठ का भी आयोजन किया गया। कार्यक्रम में भुंतर क्षेत्र के लोगों ने भाग लिया। देर शाम को यहां पर विशाल आरती कार्यक्रम का आयोजन भी किया गया। तीन दिवसीय कार्यक्रम के अंतिम दिन सोमवार को यहां विशाल भंडारे का आयोजन किया जाएगा। जिसमें खीर भी परोसी जाएगी। मंदिर के कारण राजेश सूद व अन्य कारकूनों ने बताया कि अंतिम दिन यहां पर पूर्णाहुति भी डाली जाएगी तो साथ ही भजन सत्संग भी होगा। उन्होंने बताया कि हर साल यहां पर उक्त कार्यक्रम का आयोजन किया जाता है और इस बार भी तीन दिवसीय कार्यक्रम आयोजित हो रहा है।