Wednesday, May 22, 2019 01:29 PM

एक हजार अफसरों को चुनावी ट्रेनिंग

शिमला—17 वीं लोकसभा के लिए स्वतन्त्र व निष्पक्ष निर्वाचन प्रक्रिया को पूर्ण करवाने के लिए बुधवार को 63-शिमला शहरी निर्वाचन क्षेत्र का पूर्वाभ्यास कार्यक्रम राजकीय कन्या वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला पोर्टमोर में आयोजित किया गया। इसकी अध्यक्षता सहायक निर्वाचन अधिकारी एवं उपमंडलाधिकारी शिमला शहरी नीरज चांदला ने की। प्रथम पूर्वाभ्यास में कुल 1000 पीठासीन अधिकारी, सहायक पीठासीन एवं पोलिंग अधिकारियों को ईवीएम और वीवीपैट का व्यवहारिक प्रशिक्षण प्रदान किया गया। इन सभी को ईवीएम मशीन को जोड़ने एवं सील करने और वीवीपैट के साथ अन्य जानकारियां दी गई। इस पूर्वाभ्यास कार्यक्रम के पहले सत्र में 140 पीठासीन अधिकारी, 116 सहायक पीठासीन अधिकारी और 187 पोलिंग अधिकारी के अलावा सैक्टर ऑफिसर व बूथ लेवल अधिकारियों ने भी भाग लिया। नीरज चांदला ने इस अवसर पर कहा कि 17वीं लोकसभा के लिए भारत निर्वाचन आयोग ने इस बार ‘ऐक्सेसेबल इलेक्शन’ का नारा दिया है, इसलिए हर मतदान केंद्र पर न्यूनतम विश्वसनीय सुविधाएं मतदाताओं को उपलब्ध करवाई जाएंगी। उन्होंने कहा कि दिव्यांग मतदाताओं को मतदान केंद्रों तक पहुंचाने के लिए पूर्ण सहायता उपलब्ध करवाई जाएगी। उन्होंने पीठासीन अधिकारियों को बताया कि मतदान दिवस हर दो घंटे की मतदान प्रतिशतता की (पुरूष व महिला वर्ग की) रिपोर्ट सैक्टर ऑफिसर को उपलब्ध करवाएं। महिला व पुरुष मतदाताओं की रिपोर्ट अलग-अलग दें। पूर्वाभ्यास में निर्वाचन प्रक्रिया को पूर्ण करने के लिए विस्तृत जानकारी दी गई और ईवीएम व वीवीपैट के बारे में विस्तार से प्रशिक्षण दिया गया। मतदान से पूर्व मॉक पोल के बारे भी प्रशिक्षण व जानकारी दी गई। चुनावी डयूटी पर तैनात अधिकारियों व कर्मचारियों को पोस्टल बेलेट पेपर भी दिए गए। उन्होंने चुनाव कार्यों में तैनात सभी अधिकारियों एवं कर्मचारियों का आह्वान किया कि वे चुनाव प्रक्रिया पूर्ण करवाने में सत्यनिष्ठा व लगन और जिम्मेदारी से अपना कर्तव्य निभाए। पूर्वाभ्यास के दूसरे सत्र में 142 पीठासीन अधिकारी, 118 सहायक पीठासीन अधिकारी और 189 पोलिंग अधिकारियों ने भाग लिया। उन्हें भी निर्वाचन संबंधी प्रक्रिया की विस्तृत जानकारी व प्रशिक्षण दिया गया। दोनों सत्र में निर्वाचन कानूनगो संजीव शर्मा द्वारा ईवीएम व वीवीपैट तथा निर्वाचन संबंधी कार्यों बारे प्रशिक्षण व जानकारी दी गई। इस मौके पर मतदान केंद्र स्थापित करने और ईवीएम व वीवीपैट से वोटिंग करवाने के बारे में वीडियो डॉक्यूमेंटरी भी दिखाई गई।