Friday, August 07, 2020 05:59 PM

एसएफआई ने किताबों के दामों में 100 प्रतिशत बढ़ोतरी का किया विरोध

शिमला-एसएफआई ने पहली से लेकर आठवीं कक्षाओं तक की किताबों के दामों में 100 प्रतिशत बढ़ोतरी का पूर्ण रूप से विरोध चेताया है। एसएफआई शिमला जिला कमेटी ने का कहना है कि पिछले दिनों प्रारंभिक शिक्षा निदेशक ने जो पहली कक्षा से आठवीं कक्षा की किताबों में 100 प्रतिशत बढ़ोतरी की है । उसको लेकर रोष प्रकट करते हुए कहा है कि प्राथमिक शिक्षा विभाग ने एक साथ 100 प्रतिशत तक मूल्य में बढ़ोतरी का फैसला अभिभावकों पर आर्थिक रूप से बोझ  डाला है । एसएफआई जिला अध्यक्ष अनिल ठाकुर ने कहा है कि पहले ही हमारी सरकार शिक्षा पर 18 जीएसटी लगाने का फैसला ले चुकी है और उसके साथ-साथ अब इस तरह के फैसले शिक्षा विभाग के द्वारा लिए जा रहे है । एक तरफ पूरी दुनिया महामारी के चलते आर्थिक संकट को झेल रही है । अनिल ठाकुर ने कहा है कि पहले ही प्रदेश की सरकार शिक्षा को वस्तु समझ के बेचने का काम कर रही ही जिसके चलते निजी स्कूलों के द्वारा फीसों के नाम पर भरी लूट मचाई हुई है। ट्यूशन फीस के नाम पर भरी भरकम फीस ली जा रही है जिसका एसएफआई कड़े शब्दों में विरोध करती है। एसएफआई मांग करती है कि प्राथमिक शिक्षा आयोग इस फैसले को जल्द से जल्द वापस ले अगर प्राथमिक शिक्षा आयोग इस फैसले को वापस नहीं लेता है तो एसएफआई प्रदेश भर में छात्रों को लामबंद करते हुए प्राथमिक शिक्षा निदेशक के खिलाफ उग्र आंदोलन शुरू करेगी जिसका जिम्मेदार प्राथमिक शिक्षा निदेशक होगा।

 

The post एसएफआई ने किताबों के दामों में 100 प्रतिशत बढ़ोतरी का किया विरोध appeared first on Himachal news - Hindi news - latest Himachal news.