Monday, September 16, 2019 07:35 PM

एसडीएम के हवाले मिनी सचिवालय

जवाली  - उपमंडल जवाली के अंतर्गत मिनी सचिवालय जवाली मात्र एसडीएम के हवाले है। एसडीएम जवाली अरुण कुमार शर्मा एसडीएम के अलावा तहसीलदार, नायब तहसीलदार का कार्य कर रहे हैं। मिनी सचिवालय जवाली में तहसीलदार का पद पिछले करीब एक माह से रिक्त चल रहा है तथा कार्यरत नायब तहसीलदार के छुट्टी पर चले जाने के कारण तहसीलदार संबंधी कार्य चरमरा कर रह गए हैं। बच्चों को प्रमाण पत्र बनवाने सहित लोगों को तहसील संबंधी कार्य करवाने में काफी दिक्कत हो रही है। कभी कोई नायब तहसीलदार डेपुटेशन पर जवाली में लगाया जाता है, तो कभी कोई। बच्चे जिस नायब से हस्ताक्षर करवाकर जमा करवा देते हैं, तो बाद में जब प्रमाण पत्र लेने जाते हैं, तो बताया जाता है कि आप अपने दस्तावेज को ले जाओ तथा आज जो साहब कार्यरत हैं, उनसे हस्ताक्षर करवा लाओ। ऐसे में तो बच्चों के प्रमाणपत्र समय पर नहीं बन पाते। बुद्धिजीवियों ने कहा कि गुरुवार को भी तहसील जवाली में प्रमाण पत्र बनवाने वालों की काफी भीड़ दिखी। गुरुवार को एसडीएम जवाली ने बच्चों के प्रमाण पत्रों पर साइन करके दिए तथा एसडीएम के इस कार्य का हर कोई कायल दिखा। सर्टिफिकेट बनवाने आए बच्चों ने भी एसडीएम की भूरि-भूरि प्रशंसा की। बुद्धिजीवियों ने कहा कि लाखों रुपए की लागत से निर्मित मिनी सचिवालय मात्र शोपीस बनकर रह गया है। बुद्धिजीवियों ने कहा कि जवाली के विधायक अर्जुन सिंह विकास के वादे तो भले ही करते हैं, लेकिन अगर कर्मियों के पद ही रिक्त होंगे तो विकास कैसे होगा। उन्होंने मांग की है कि तहसील जवाली में रिक्त चल रहे तहसीलदार के पद पर अतिशीघ्र नियुक्ति की जाए, ताकि जनता को लाभ मिल सके। नगर पंचायत जवाली के पार्षद रवि कुमार, जगपाल जग्गू, सुरिंद्र छिंदा व पूर्व अध्यक्ष ममता देवी इत्यादि ने कहा कि जवाली तहसील में दूरदराज से लोग पंचायत संबंधी कार्य करवाने आते हैं तथा तहसीलदार का पद रिक्त होने से परेशानी उठानी पड़ती है। उन्होंने कहा कि अतिशीघ्र रिक्त चल रहे तहसीलदार के पद को भरा जाए, ताकि लोगों को परेशानी न उठानी पड़े। इस बारे में एसडीएम जवाली अरुण कुमार शर्मा ने कहा कि जनता की परेशानी को देखते हुए मैं स्वयं प्रमाण पत्रों को हस्ताक्षरित कर रहा हूं। उन्होंने कहा कि तहसीलदार का पद रिक्त चल रहा है, जबकि नायब तहसीलदार छुट्टी पर हैं। उन्होंने कहा कि तहसीलदार के रिक्त पद बारे विभागीय उच्चाधिकारियों को अवगत करवा गया है। इस बारे में पूर्व मंत्री चौधरी चंद्र कुमार ने कहा कि जब कांग्रेस की सरकार थी,  तो जवाली तहसील में तहसीलदार व नायब तहसीलदार का पद कभी भी रिक्त नहीं रहा। अब भाजपा का राज है, तो ट्रांसफर की जा रही हैं,  जबकि उनकी जगह पर नियुक्तियां नहीं करवाई जा रही हैं।