Monday, July 06, 2020 08:29 AM

एसडीएम विनय मोदी ने पेश की मिसाल

12 रुपए में दिला दिया, स्वास्थ्य संस्थानों में 85 रुपए प्रति लीटर में उपलब्ध होने वाला सोडियम हाइपोक्लोराइट

गगरेट-कोरोना काल भी व्यवस्था को सुधारने में लगे चंद लालच के पैरोकारों को जहां कमाई का साधन लगा और इनके काले कारनामे पहाड़ पर सुर्खियां बनकर गूंजे लेकिन कुछ ऐसे अफसर भी हैं जिनका ईमान नहीं डोला और उन्होंने अपने फर्ज का निर्वहन करने को तरजीह देने के साथ मानव जीवन से छाए इस खतरे को टालने में डटकर संघर्षरत रहे। चाहते तो कोरोना काल उनके लिए भी मोटी कमाई का जरिया बन सकता था लेकिन पैसे को अपने जूते तले रौंदते हुए इन्होंने ऐसी नजीर पेश की कि हर कोई इनका कायल हो उठा है। ऐसा ही एक नाम एसडीएम विनय मोदी का उभर कर सामने आया है। कोरोना वायरस से लड़ने का प्रमुख हथियार सोडियम हाइपो क्लोराइट जो कि स्वास्थ्य संस्थानों में 85 रुपए प्रति लीटर के हिसाब से सप्लाई किया जाता रहा है, इस ईमानदार अफसर ने ऐसा जरिया ढूंढा कि यह बारह रुपए प्रति लीटर तक उपलब्ध हो गया। चौबीस मार्च को जब लाकडाउन-एक शुरू हुआ तो कोरोना वायरस से युद्ध स्तर पर निपटने के लिए तैयारियां भी शुरू हो गईं। उस समय इस लड़ाई के प्रमुख हथियार सोडियम हाइपो क्लोराइट की याद आई, लेकिन यह बाजार में आसानी से उपलब्ध नहीं था। हालांकि सरकारी स्वास्थ्य संस्थानों में इसकी सप्लाई करने वाले सप्लायर भी इसे 85 रुपए प्रति लीटर के हिसाब से उपलब्ध करवाते थे, लेकिन इस रेट पर भी सप्लायर यह कहते हुए हाथ खड़े कर गए कि बाजार में उपलब्ध ही नहीं है। इसी बीच एसडीएम विनय मोदी ने टाहलीवाल में एक ऐसा सोर्स ढूंढ निकाला जो सोडियम हाइपो क्लोराइट तैयार करता था। एसडीएम विनय मोदी की उनसे बात हुई तो उन्होंने भी मानव सेवा को तरजीह देते हुए इसे बारह रुपए प्रति लीटर में देने में हामी भर दी। यही वजह रही कि इतनी सस्ती दर पर सोडियम हाइपो क्लोराइट उपमंडल गगरेट के स्वास्थ्य संस्थानों के साथ-साथ नगर पंचायत गगरेट व दौलतपुर चौक में भी उपलब्ध हो पाया। यही नहीं बल्कि जिला ऊना में कोरोना वायरस का सबसे पहला मामला भी उपमंडल गगरेट में ही सामने आया था और नकड़ोह ग्राम पंचायत के कमाली गांव को कंटेनमेंट जोन में तबदील करना पड़ा था। इसमें भी एसडीएम विनय मोदी ने बेहतर व्यवस्थाएं की। यही वजह रही कि यहां कोराना वायरस का सामुदायिक फैलाव रोका जा सका। लॉकडाउन के दौरान करीब पंद्रह हजार पास एसडीएम कार्यालय गगरेट द्वारा जारी किए गए।

The post एसडीएम विनय मोदी ने पेश की मिसाल appeared first on Himachal news - Hindi news - latest Himachal news.