ओलंपिक स्थगित होना दुर्भाग्यपूर्ण: मनप्रीत और रानी

बेंगलुरु, 25 मार्च कोरोना वायरस के खतरे के कारण इस वर्ष होने वाले टोक्यो ओलंपिक के स्थगित होने के बाद भारतीय पुरुष हॉकी टीम के कप्तान मनप्रीत सिंह और महिला टीम की कप्तान रानी ने इसे दुर्भाग्यपूर्ण करार दिया लेकिन साथ ही कहा कि वे अपना लक्ष्य हासिल करने के लिए प्रतिबद्ध हैं।  वैश्विक महामारी बन चुके कोरोना वायरस के कारण अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति (आईओसी) और मेजबान देश जापान ने मंगलवार को टोक्यो ओलम्पिक को एक साल के लिए स्थगित करने की घोषणा की थी। मनप्रीत ने कहा, “हमें ओलंपिक के स्थगित होने के बारे में मुख्य कोच ग्राहम रीड ने बताया। दुनियाभर में फैले कोरोना वायरस के कारण हमें लग रहा था कि ओलंपिक स्थगित किए जा सकते हैं लेकिन हमने इसके कारण अपनी ट्रेनिंग को प्रभावित नहीं होने दिया।”  उन्होंने कहा,“हम मानसिक तौर पर 25 जुलाई को होने वाले अपने पहले मैच के लिए तैयार थे, इसलिए यह दुर्भाग्यपूर्ण है लेकिन हमारे लिए जरुरी है कि हम सकारात्मक बने रहें। पिछले 10 महीनों से हमने कोच रीड के नेतृत्व में अभ्यास किया है और मुझे विश्वास है कि हम अगले एक वर्ष भी उनके साथ ट्रेनिंग लेते रहेंगे। ओलंपिक स्थगित होने की घोषणा से हमारा मनोबल नहीं टूटा है। एक टीम के नाते हम अपने लक्ष्य को हासिल करने के लिए प्रतिबद्ध हैं।''मनप्रीत ने कहा, “पूरी टीम की तरफ से मैं सभी हॉकी प्रशंसकों से लॉकडाउन का पालन करने औऱ सुरक्षित रहने का आग्रह करता हूं। जब तक आप घर में हैं खुद को फिट रखने के लिए वर्कआउट करें। खुद को मानसिक और शारीरिक तौर पर फिट रखना बेहद जरुरी है।” महिला टीम की कप्तान रानी ने कहा,“हमें जब कोच शुअर्ड मरिने ने यह खबर दी तो हम बैठक में थे और इस खबर ने हमें झकझोर दिया। निजी तौर पर मुझे इससे काफी दुख हुआ क्योंकि हमारी टीम टोक्यो ओलंपिक के लिए संतुलित थी और सही दिशा में जा रही थी। अगर पिछले दो वर्षों में हमारे प्रदर्शन को देखें तो टीम ने काफी बेहतर किया था। हमने विश्व की सभी बड़ी टीमों को कड़ी टक्कर दी। हम ओलंपिक स्थगित होने के फैसले को सकारात्मक तौर पर लेते हैं। हम और कड़ी मेहनत करेंगे और अपने खेल को एक नया आयाम देंगे।”

Related Stories: