Friday, August 14, 2020 04:58 PM

ओलावृटि से मटर की फसल तबाह

सलूणी की तीन पंचायतों में बरपा कहर, किसानों की मेहनत पर फिरा पानी

सलूणी -उपमंडल की उपरी क्षेत्रों की तीन पंचायतों में बुधवार दोपहर बाद हुई भारी ओलावृष्टि ने मटर की फसल पर कहर बरपा दिया है। ओलावृष्टि ने किसानों की मटर की बंपर फसल की उम्मीदों पर पूरी तरह पानी फेर दिया है। ओलावृष्टि के कारण खेतों में बोई मटर की फसल के तबाह होने से किसान भविष्य में होने वाले आर्थिक संकट की सोच से सिंहर उठे हैं। कंधवारा, भड़ेला व खड़जौता के किसान हेमराज, रमेश, तुला राम, खेमराज, महिंद्र, चमन, भीलो राम व होशियार सिंह आदि ने बताया कि बुधवार को इलाके में हुई ओलावृष्टि से मटर की फसल को काफी नुकसान हुआ है। उन्होंने बताया कि इस बार मटर की बंपर फसल की उम्मीद से किसान काफी गदागद थे। मगर ओलावृष्टि ने खेतों में मटर की फसल के तौर पर बोई मेहनत को बर्बाद कर दिया है। बताते चलें कि मटर की फसल इलाके के किसानों की आर्थिकी की रीढ़ है। इस फसल की खरीद-फरोख्त से ही किसानों के पूरे वर्ष का खान खर्च चलता है। मगर अब मटर की फसल तबाह होने से किसानों को अभी से परिवार के पालन-पोषण की चिंता सताने लगी है। इलाके के किसानों ने ओलावृष्टि से मटर की फसल को हुए नुकसान के एवज में मुआवजे की मांग कर राहत पहंुचाने की गुहार लगाई है। बहरहाल, बुधवार को उपमंडल की तीन पंचायतों में ओलावृष्टि से हुए नुकसान से मटर की फसल को