Monday, July 06, 2020 07:27 AM

कोरोना…पटरी पर लौटने लगी जिंदगी

औद्योगिक क्षेत्र गगरेट के उद्योगों का उत्पाद देश के अन्य हिस्सों में पहुंचना शुरू

गगरेट –कोरोना वायरस की दहशत के बीच पटरी से उतरी जिंदगी की गाड़ी धीरे-धीरे फिर से पटरी पर लौटने लगी है। हर जगह तालाबंदी करवा देने वाले कोरोना वायरस के बीच जीवन चलने का नाम की तर्ज पर अब धीरे-धीरे काम-धंधे सामान्य होने लगे हैं। हालांकि अभी भी औद्योगिक ईकाइयों में पचास प्रतिशत मैन पावर के साथ ही उद्योग शुरू करने की इजाजत है लेकिन इस चुनौती के बीच कई औद्योगिक ईकाइयों ने न सिर्फ उत्पादन शुरू कर दिया है बल्कि इनका तैयार माल बाजार में आना भी शुरू हो गया है। औद्योगिक क्षेत्र गगरेट में स्थित ल्यूमिनस उद्योग के साथ कई अन्य प्रमुख उद्योगों ने पूरी एहतियात के साथ उद्योगों में उत्पादन शुरू कर यह साबित किया है कि मानव जीवन पर खतरा बना यह वायरस इतनी आसान से जिंदगी की गाड़ी नहीं रोक सकता। कोरोना वायरस की दहशत के बीच उद्योगों में उत्पादन शुरू करने के लिए उद्योग प्रबंधन के सामने कई चुनौतियां थीं। सबसे बड़ी चुनौती उद्योगों को पचास प्रतिशत मैन पावर के साथ शुरू करना और उद्योग में आने वाले हर कामगार के स्वास्थ्य की चिंता करनी थी। औद्योगिक क्षेत्र गगरेट में स्थित उद्योगों में दो गज की दूरी नियम के साथ कामगारों ने मास्क, गलब्स और सेनेटाइजर के साथ काम शुरू किया तो उत्पादन भी चल निकला। हालांकि उद्योग की क्षमता के अनुसार उत्पादन शुरू नहीं हो पाया, लेकिन सुखद बात यह है कि इन उद्योगों में बनने वाले उत्पाद अब बाजार तक उपलब्ध होना शुरू हो गए हैं। यहां के एक उद्योग द्वारा देश के अन्य हिस्सों में माल भेजने के साथ अब विदेशों के लिए भी सप्लाई शुरू कर दी है। इससे ट्रक आपरेर्ट्स ने भी राहत की सांस ली है। कोरोना वायरस की मौजूदगी के बीच इन उद्योगों को फिलहाल पचास प्रतिशत मैन पावर से ही काम चलाना होगा लेकिन राहत की बात यह है कि कोरोना वायरस इन उद्योगों के रफ्तार पर ब्रेक लगाने में असफल सिद्ध हुआ है। औद्योगिक क्षेत्र गगरेट में ल्यूमिनस उद्योग, सालसन उद्योग, एडवांस वाल्व, तिगाकशा मैटेलिक्स, अवनी कास्ट व शिबांबू इंटरनेशनल में उत्पादन शुरू हो चुका है और इनके उत्पाद अब देश के अन्य हिस्सों में जाना शुरू हो गए हैं। उपमंडल औद्योगिक संघ के महासचिव सुरेश शर्मा का कहना है कि कोरोना काल में उद्योगों में पूर्णतया तालाबंदी भी समस्या का हल नहीं है। देश में आर्थिक संकट पैदा न हो इसके लिए उद्योगों का पहिया घूमना नितांत जरूरी है और अधिकांश उद्योगपति सरकार के दिशा-निर्देश अनुसार काम करते हुए देश को आगे बढ़ाने को प्रयासरत हैं।

The post कोरोना… पटरी पर लौटने लगी जिंदगी appeared first on Himachal news - Hindi news - latest Himachal news.