Wednesday, July 08, 2020 12:34 PM

कंडवाल स्कूल में 36 लोग क्वारंटाइन

दूसरे राज्यों से प्रदेश में पलायन कर रहे नागरिकों को आइसोलेशन सेंटर में रखा

नूरपुर - उपमंडल नूरपुर में कंडवाल वैरियर पर सोमवार को प्रदेश में प्रवेश कर रहे व यहां से दूसरे राज्य को जा रहे लगभग 36 लोगों को पुलिस व प्रशासन ने कंडवाल में बनाए आइसोलेशन सेंटर में रखा। एसडीएम नूरपुर डा. सुरिंद्र ठाकुर ने बताया कि लॉकडाउन के बाद दूसरे राज्यों से पलायन कर जिला में  प्रवेश करने वाले हिमाचली युवाओं के अतिरिक्त जिला से सीमांत राज्य में पलायन करने पर सोमवार को  36 लोगों को  कंडवाल स्कूल में बनाए गए आइसोलेशन सेंटर में 14 दिनों के लिए क्वारंटाइन किया गया है। इनमें से 12 हिमाचली लोग लॉकडाउन के पश्चात राजस्थान से पलायन कर जिला की सीमा में पहुंचे है, जबकि 24 कश्मीरी मजदूर जम्मू व कश्मीर राज्य में अपने घरों की ओर जा रहे थे। एसडीएम ने बताया कि इन लोगों को जिला की सीमा पर रोक कर कंडवाल स्कूल ले जाया गया व  प्रशासन द्वारा इनके खाने का इंतजाम किया गया। इस मौके पर डीएसपी साहिल अरोड़ा सहित नायब तहसीलदार देस राज ठाकुर भी उपस्थित थे। सुरिंद्र ठाकुर ने बताया कि क्वारंटाइन किए गए लोगों के लिए विस्तर व खान-पान सहित अन्य सभी आवश्यक सुविधाएं प्रशासन द्वारा उपलब्ध करवाई गई हैं, जबकि  कार्य की निगरानी के लिए बरंडा के फील्ड कानूनगो जोगिंद्र सिंह को इस क्वारंटाइन सेंटर का नोडल आफिसर नियुक्त किया गया है। उन्होंने बताया कि सेंटर में क्वारंटाइन किए गए लोगों  पर निगरानी रखने के लिए पुलिस के जवान तैनात किए गए हैं, जो दिन-रात इन पर नजर रखेंगे। उन्होंने बताया कि इन सभी लोगों की डाक्टरों की टीम द्वारा स्वास्थ्य जांच की जाएगी तथा किसी भी व्यक्ति में कोरोना के संक्रमण  पाए जाने पर उसे टांडा मेडिकल कालेज भेजा जाएगा।  उधर, डीएसपी नूरपुर डा. साहिल अरोड़ा ने बताया  कि दूसरे राज्यों व जिलों से होने वाले  पलायन के दृष्टिगत जिला की  सीमा  को पूरी तरह से सील कर दिया गया है और पुलिस द्वारा हर आने-जाने वाले वाहन व व्यक्ति पर पैनी नजर रखी जा रही है। उन्होंने बताया कि जिला की सीमा में प्रवेश करने वाले हर व्यक्ति का पूरा रिकार्ड दर्ज कर उसे आइसोलेशन सेंटर में क्वारंटाइन किया जाएगा।