Tuesday, March 31, 2020 07:36 PM

कचरे के निष्पादन को ईशान ने दिखाई सही राह

डीसी चंबा के फेसबुक पेज से ली प्रेरणा, उपायुक्त ने नौवीं के ईशान सम्मी से मिलकर थपथपाई पीठ

चंबा-लोग अक्सर रोजमर्रा की घरेलू जरूरतों से जुड़े प्लास्टिक कचरे, खाद्य और पेय पदार्थों की पैकिंग में उपयुक्त होने वाले प्लास्टिक को डस्टबिन में फैंक देते हैं। इस तरह के सिंगल यूज प्लास्टिक कचरे के निष्पादन को लेकर राज्य सरकार की योजना के मुताबिक यह प्लास्टिक कचरा 75 रुपए प्रति किलो की दर से नगर निकायों और पंचायतों द्वारा खरीदा जाता है। इसमें प्लास्टिक की बोतलें और खिलौनों इत्यादि में उपयुक्त होने वाला प्लास्टिक शामिल नहीं है। समस्या के निदान को लेकर जिला प्रशासन ने भी जन जागरूकता की मुहिम शुरू की है। इसी कड़ी में उपायुक्त विवेक भाटिया द्वारा डीसी चंबा फेसबुक पेज पर लोगों से इस तरह के प्लास्टिक कचरे को घर में इकट्ठा करके उसे नगर परिषद को सुपुर्द करने की अपील की थी। अपील से प्रेरित होकर चंबा शहर के बनगोटू मोहल्ला के नौवीं कक्षा के छात्र ईशान सम्मी ने अपने घर में पैदा होने वाले प्लास्टिक कचरे को करीब डेढ़ महीना पहले इकट्ठा करना शुरू किया। जब करीब डेढ़ किलो कचरा इकट्ठा हुआ तो ईशान सम्मी ने उसे नगर परिषद में जमा करवा दिया। नगर परिषद द्वारा उसे 75 रुपए प्रति किलो की दर से बाकायदा भुगतान भी कर दिया गया है। उपायुक्त विवेक भाटिया ने आज स्वयं उपायुक्त कार्यालय में ईशान  सम्मी से मिलकर उसके इस प्रयास की भरपूर सराहना की। उन्होंने कहा कि इस उम्र में यदि युवा अपनी सोच को सकारात्मक दिशा दें तो यह समाज और हमारे परिवेश के लिए सुखद संदेश से कम नहीं। उन्होंने युवा वर्ग का आह्वान करते हुए कहा कि वे इस मुहिम में जुड़कर अन्य युवाओं के लिए भी रोल मॉडल बनें। उन्होंने ये भी कहा कि सोच और संस्कार ही स्वच्छता को हकीकत में बदल सकते हैं। यह गुण जब यदि छोटी आयु में ही पैदा हो जाएं तो व्यक्ति के चरित्र और कार्यशैली का अभिन्न अंग बन जाते हैं, जिसका परिवार, समाज और समग्र तौर से पूरे राष्ट्र को लाभ प्राप्त होता है।