Tuesday, October 15, 2019 09:42 AM

कनिष्ठ अभियंता संघ ने काले बिल्ले लगाकर मनाया इंजीनियर्स-डे

कनिष्ठ अभियंताओं को कारण बताओ नोटिस जारी करने पर जताया रोष

बिलासपुर -बिलासपुर जिला मुख्यालय पर स्थित परिधि गृह में सोमवार को अभियंताओं ने काले बिल्ले लगाकर इंजीनियर-डे मनाया। हिमाचल प्रदेश कनिष्ठ अभियंता संघ बिलासपुर जोन के बैनर तले एवं अध्यक्ष राजीव कुमार की अध्यक्षता में आयोजित इस कार्यक्रम में जिला भर से आए अभियंताओं ने भाग लिया। सर्वप्रथम भारत रत्न प्राप्त देश के प्रथम इंजीनियर सर मोक्षगुंडम विश्वेश्रैया के चित्र पर माल्यापर्ण किया। इस मौके पर मुख्यातिथि संघ के पूर्व प्रदेशाध्यक्ष सीता रामठाकुर ने बताया कि यह पहला अवसर है जब अभियंता काले बिल्ले लगाकर इस दिवस पर अपना रोष व्यक्त कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि शासन के अधिकारियों द्वारा किए गए विश्वाशघात के चलते यह दिन देखने पड़ रहे हैं। सीता राम ठाकुर ने बताया कि अभी हाल में सरकार के तुगलकी फरमान को लेकर जेई संघ का प्रतिनिधिमंडल प्रमुभ अभियंता (गुणवत्ता नियंत्रण) से मिला था, जिसमें जेई एसोशिएशन को सड़क की गुणवत्ता को लेकर किसी प्रकार की कार्रवाई न करने के आश्वासन दिया गया था, बावजूद इसके कनिष्ठ अभियंताओं को कारण बताओ नोटिस जारी कर दिए गए। ऐसे में प्रदेश कनिष्ठ अभियंता संघ का गुस्सा सातवें आसमान पर होना लाजिमी है। उन्होंने कहा कि प्रमुख अभियंता की इस वायदा खिलाफी का पूरजोर विरोध किया है। ठाकुर ने कहा कि 11 सितंबर को संघ का प्रतिनिधिमंडल प्रमुख अभियंताओं से प्रधानमंत्री ग्राम सड़क की गुणवत्ता को लेकर मिला था, जिसमें संघ को प्रमुख अभियंताओं की ओर से आश्वासन मिला था कि कोई भी कार्रवाई नहीं की जाएगी, लेकिन अचानक ऐसी क्या मजबूरी बन गई कि जिला बिलासपुर और हमीरपुर में कनिष्ठ  अभियंताओं को कारण बताओ नोटिस जारी कर दिए। पूर्व प्रदेशाध्यक्ष सीता राम ठाकुर ने कहा कि केवल एक जेई के ऊपर ही गाज गिराना कहां तक जायज है, क्यों न उन अधिकारियों पर भी कार्रवाई की जाए जो या तो पदोन्नत हो चुके हैं या फिर सेवानिवृत्त हो चुके हैं। केवल जेई वर्ग को ही निशाना बनाना तर्क संगत नहीं है। उन्होंने कहा कि इस वादा खिलाफी के बाद पूरे प्रदेश के कनिष्ठ अभियंताओं में उच्चाधिकारियों के प्रति रोष की लहर है, ऐसे में यदि इस फरमान को वापस न लिया गया तो इन्ही अधिकारियों के खिलाफ मोर्चा खोला जाएगा, जिसकी सारी जिम्मेदारी प्रमुख अभियंताओं और सरकार पर होगी। इस मौके पर महासचिव अनूप गौतम, वित्त सचिव दिनेश गुप्ता, ई. कल्पना, स्वाति, राजेश राजपूत, राजेश, अनिल चंदेल, अजय कुमार, अमर नाथ, दिनेश शर्मा, राहुल महाजन, राम लोक, नीम चंद बट्टू, राजीव कुमार, नंद लाल, नागेंद्र, अमर नाथ, देवेश शर्मा, बलदेव ठाकुर, शिव कुमार, जगत राम व महेंद्र सिंह सहित अन्य मौजूद  रहे।