Tuesday, November 12, 2019 08:45 AM

कबाड़ बना डाला पांच करोड़ का पुल

चार साल में मरम्मत तक नहीं कर पाई सरकार, कांग्रेस नेता रवि ठाकुर का हमला, मूलिंग गौशाल और शिप्टिंग के ग्रामीणों का जीना हराम

केलांग -पांच करोड़ की लागत से तैयार हुए लाहुल के मूलिंग पुल का मरम्मत चार साल बीतने के बाद भी पूरा नहीं हो पाया है। ऐसे में जहां घाटी के तीन गांव मूलिंग, गोशाल व शिप्टिंग के ग्रामीणों को दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है, वहीं प्रशासन व संबंधित विभाग की कार्य प्रणाली पर भी लोगों ने सवाल उठाने शुरू कर दिए हैं। लोगों का कहना है कि विभाग से पुल को जल्द से जल्द तैयार करने का आग्रह कई बार विभिन्न मंचों से किया गया, लेकिन विभाग व प्रशासन के आलाधिकारी ग्रामीणों की इस आग्रह को अंदेखा कर देते हैं। ऐसे में अब लाहुल-स्पीति कांग्रेस ने मूलिंग पुल के मुद्दे पर प्रदेश सरकार को घेरने की तैयारी कर डाली है। लाहुल-स्पीति के पूर्व विधायक रवि ठाकुर ने कहा कि गत चार वर्षों से मूलिंग पुल का मरम्मत कार्य संबंधित विभाग पूरा नहीं कर सका है। उन्होंने कहा कि उक्त पुल का निर्माण कांग्रेस कार्यकाल में किया गया था और पुल के निर्माण कार्य पर करीब पांच करोड़ रुपए की राशि खर्च की गई थी, लेकिन किसी कारण वश 2015 में पुल टूट गया था, जिस का मरम्मत कार्य के लिए उसी समय आदेश दिए गए थे और पुल को दौवारा तैयार करने की डेडलाइन 2017 रखी गई थी, लेकिन चुनावों के बाद जहां उक्त पुल का मरम्मत कार्य नाममात्र का किया गया, वहीं आजतक मूलिंग पुल की सुविधा ग्रामीणों को नहीं मिल सकी है। उन्होंने बताया कि पुल को अगर जल्द से जल्द तैयार नहीं किया तो कांग्रेस लाहुल-स्पीति में सड़कों पर उतर जहां सरकार व प्रशासन के खिलाफ मोर्चा खोलेगी, वहीं स्थानीय विधायक को भी कांग्रेस कार्यकर्ता लाहुल दौरे के दौरान काले झंडे दिखाएंगे। उन्होंने बताया कि उक्त पुल के क्षति ग्रस्त होने से गांव के लोग आज भी पुरान पुल का इस्तेमाल कर रहे हैं और अपनी जान खतरे में डाल नदी को पार कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि वह मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर से यह मांग करते हैं कि मूलिंग पुल का मरम्मत कार्य जल्द से जल्द पूरा करवाने के लाहुल-स्पीति प्रशासन को आदेश दिए जाएं। उन्होंने कहा कि इस संबंध में वह जल्द ही मुख्यमंत्री को एक पत्र भी लिखेंगे और क्षेत्र के हालातों के बारे में बताएंगे। उन्होंने कहा कि प्रशासन व स्थानीय विधायक पुल के मरम्मत कार्य के प्रति गंभीर नहीं है। ऐसे में कांग्रेस कार्यकर्ताओं को मजबूरन सड़कों पर उतने का निर्णय लेना पड़ा है। उन्होंने कहा कि स्थानीय लोगांे का कहना है कि अगर पुल समय पर तैयार हो जाता तो गांव के लोगों को किसी भी तरह की दिक्कतों का सामना नहीं करना पड़ा। बहरहाल मूलिंग पुल के कछुआ गती से हो रहे मरम्मत कार्य को लेकर कांग्रेस ने सरकार को घेरने की तैयारी शुरू कर दी है।