Monday, July 13, 2020 03:55 AM

…कभी भी गिर सकता है मकान

 ग्राम पंचायत कुठेड़ में डर के साएं में रह रहा पीडि़त परिवार, मदद की फरियाद

जवाली-उपमंडल जवाली के अंतर्गत ग्राम पंचायत कुठेड़ में एक परिवार  खस्ताहालत घर में रहने को मजबूर है, जो कभी भी गिर कर परिवार के लिए मौत का कारण बन सकता है। मकान की छत को सपोर्टों के सहारे खड़ा किया गया है। परिवार की महिला सलमा बेगम पत्नी लियाकत अली निवासी करेटा ने बताया कि उसका पति कैंसर का मरीज तथा उसके सास और ससूर दिव्यांग हैं। महिला के पांच बच्चे हैं। महिला ने बताया कि जब उसका पति ठीक था तो वह मेहनत-मजदूरी करता था। उस कमाई से दो वक्त की रोटी का जुगाड़ होता था, परंतु पति के बीमार होने के बाद वह बिलकुल लाचार हो गई है। बच्चों का पेट पालने के लिए वह लोगों के घरों में मजदूरी करती है।  कुछ समाजसेवी संस्थाएं उनकी मदद को तैयार रहती हैं। एंजल दिव्यांग आश्रम छत्तर ने उस परिवार की दयनीय हालत को देखकर  मदद के हाथ बढ़ाए तथा उन्हें दो महीने का राशन उपलब्ध करवाया व भविष्य में हर संभव मदद का आश्वासन दिया। महिला के बच्चों की पढ़ाई के लिए पुस्तकें कापियां भी प्रदान की गईं थीं। एंजल दिव्यांग आश्रम की संचालिका अलका शर्मा ने बताया कि उनकी संस्था लगातार जरूरतमंद  गरीब लोगों की मदद कर रही है। संस्था ने एक गरीब परिवार को दो महीने का राशन दिया तथा परिवार के बच्चों की पढ़ाई का खर्चा  संस्था द्वारा उठाने का आश्वासन दिया। इस बारे में एसडीएम जवाली सलीम आजम ने बताया कि कुठेड़ पंचायत की एक महिला उनके कार्यालय में आई थी। उसका पति कैंसर रोग से पीडि़त है तथा उसका मकान गिरने वाला है। इस बारे में प्रशासन की ओर से महिला को यथासंभव मदद दी जाएगी। महिला को सहारा योजना में शामिल करने के लिए एसएमओ को कहा गया है।