करियर रिसोर्स

जिन उम्मीदवारों के पास एमबीबीएस की डिग्री नहीं है, उनके लिए चिकित्सा क्षेत्र में क्या-क्या विकल्प हैं

— मनोज वर्र्मा, इंदौरा

एमबीबीएस एग्जाम में यदि आपका चयन नहीं होता है, तो निराश होने की कोई बात नहीं। अन्य विकल्पों के अलावा भी आप चिकित्सा क्षेत्र में आगे बढ़ सकते हैं। होम्योपैथी, नेचरोपैथी, आयुर्वेद, यूनानी और योग जैसे विकल्पों का चयन किया जा सकता है। फार्मेसी, बायो केमिस्ट्री, बायोटेक्नोलॉजी, वैटरिनरी साइंस एंड एनिमल हसबैंडरी, फिजियोथैरेपी, लैब एंड एक्स-रे टेक्नोलॉजी, बायो मेडिकल इंजीनियरिंग, डेंटल मेकेनिक्स, हास्पिटल मैनेजमेंट और न्यूट्रीशन एंड डायटिक्स में भी विकल्प मौजूद हैं।

डबिंग के क्षेत्र में किस तरह का भविष्य बनाया जा सकता है?

— प्रवेश कुमार, डलहौजी

एनिमेशन फिल्मों, अंग्रेजी फिल्मों और कार्टून आदि फिल्मों में वॉयस ओवर या डबिंग की जरूरत पड़ती है। डबिंग से मतलब है कार्टून चरित्रों को आवाज देना। इसी तरह अंग्रेजी या अन्य भाषाओं की फिल्मों का हिंदी रूपांतरण करते समय भी ऐसे ही डबिंग आर्टिस्ट की जरूरत पड़ती है। आवाज में स्पष्टता के अलावा शुद्ध उच्चारण करने की क्षमता और जरूरत  व पात्रों के अनुसार आवाज में उतार-चढ़ाव ला पाने की करामात ही आपको  एक बेहतरीन डबिंग या वॉयस ओवर आर्टिस्ट बनाकर इस कार्यक्षेत्र में स्थापित करवा सकती है।

Related Stories: