Tuesday, March 31, 2020 01:10 PM

कर्फ्यू खत्म होगा, तभी मिलेगी खिचड़ी

हिमाचल में कर्फ्यू हटने के बाद विद्यार्थियों को मिलेगा मिड डे मील

शिमला - केंद्र सरकार की ओर से छात्रों को मिलने वाला मिड डे मील का राशन अब कर्फ्यू ख़त्म होने के बाद दिया जाएगा। शिक्षा विभाग ने जो अधिसूचना जारी की थी कि मिड डे मील छात्रों को घर पर दिया जाएगा, विभाग अपने इस फैसले को अब कर्फ्यू ख़त्म होने के बाद ही लागू करेगा। इससे पहले अभिभावकों को स्कूल में आकर यह राशन डाइट के तौर पर दिया जाना था, लेकिन विभाग ने फिलहाल अब कर्फ्यू लागू होने के बाद इस फैसले को टाल दिया गया है। प्रदेश में कोरोना वायरस के खौफ़ के चलते स्कूल भी बंद कर दिए गए हैं। ऐसे में जब बच्चें स्कूल नहीं आ रहे हैं तो मिड डे मील का जो राशन प्रदेश के स्कूलों में है, उसे इन छुट्टियों में भी छात्रों तक पहुंचाया जाना था। छात्रों को यह मिड-डे मील घरों पर ही देने पर विभाग ने सहमति बनाई थी। इसे लेकर निर्देश प्रारंभिक शिक्षा विभाग की ओर से जारी किए गए थे। इसके तहत सभी जिला शिक्षा उपनिदेशक प्रारंभिक व उपनिदेशक उच्च शिक्षा और ब्लॉक प्रारंभिक शिक्षा अधिकारियों को मिड डे मिल का राशन पात्र छात्रों में वितरित करने की जिम्मेदारियां सौंपी गई हैं। यह जिम्मेदारी बाद में स्कूल शिक्षक एसएमसी की मदद से निभाएंगे। इसके लिए पहली से आठवीं कक्षा के छात्रों के अभिभावकों को स्कूल आकर मिड डे मील ले जाने को कहा जाएगा। छात्रों को यह मिड डे मील उनकी डायट के हिसाब से दिया जाएगा। मिड डे मील के साथ ही प्रारंभिक शिक्षा विभाग ने छात्रों को कुकिंग कॉस्ट की राशि भी देने को कहा है, जिसमें स्कूल प्रशासन अभिभावकों को स्कूल बुलाकर यह राशि दे सकतें है। प्राथमिक स्तर पर यह कुकिंग कॉस्ट प्रति छात्र प्रतिदिन 4.48 रूपए होगी और अप्पर प्राथमिक स्तर में कुकिंग कॉस्ट प्रति छात्र प्रति दिन 6.71 रूपए होगी। स्कूलों को इसी हिसाब से अभिभावकों को यह राशि देनी होगी।