Friday, August 14, 2020 02:30 PM

कर्फ्यू…तीन घंटे बाद भी ग्राहक खाली

शिमला में कर्फ्यू के दौरान ढील में लग रहीं लाइनें, सीनियर  सिटीजन भी मायूस

शिमला-कर्फ्यू में मिली ढील के दौरान लोगों की राशन लेने के लिए उपनगरों के राशन डिपो के बाहर सुबह से ही लंबी लाइनें लगी रहती हैं। यही नहीं तीन घटें लाइनों में खड़े रहने के बाद भी अधिकतर लोगों को राशन नहीं मिल पा रहा है। ऐसे में लोगों को मजबूरन खाली हाथ लौटना पड़ रहा है। हैरानी की बात तो यह है कि लोग राशन की खरीददारी के लिए सुबह दस बजे से पहले ही लाइनों में खड़े हो रहे हैं और अपनी बारी का इंतजार कर रहे हैं। राशन की खरीददारी के लिए जो लोग लाइनों में खड़े हैं उनमें बच्चे और बुजुर्ग सब हैं। बुजुर्गों को भी घंटों लाइनों में खडे़ होना पड़ रहा है। सीनियर सिटीजन होने के बावजूद डिपुओं के बाहर खड़े होना पड़ रहा है। शिमला में एक तरफ जहां कर्फ्यू व लॉकडाउन के चलते लोगों को अपने घर के अंदर रहने के निर्देश दिए गए हैं। वहीं घरों के अंदर रह रहे लोगों को राशन व खाने पीने के  सामान की दिक्कत न हो, इस बात को सुनिश्चित करने के लिए प्रशासन ने लोगों को कफ्ूर्य में तीन घंटे की छूट दी गई है। ऐसे में लोग अपनी जरूरत का सामना लेने तय समय से घरों से बाहर निकल रहे हैं, लेकिन इस समय के अनुसार अधिकतर लोगों को एक बजे तक राशन मिल ही नहीं पा रहा है। लाइनों में खड़े लोगों ने बताया कि वे दो दिनों से यहां आ रहे हैं और उन्हें राशन नहीं मिल रहा है। इसकी एक वजह यह है कि यह डिपो हफ्ते में केवल तीन दिन ही खुल रहा है। दूसरा यह है कि कर्फ्यू के दौरान जो ढील दी गई है, तीन घंटों की, वह बहुत कम है।  तीन घंटों में लाइनों में खड़े होने वाले लोगों की संख्या अधिक है। समय भी कम रहता है ऐसे में सभी को राशन नहीं मिल पा रहा है। ऐसे में लोगों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। राशन लेने पहुंच रहे लोगों का कहना है कि प्रशासन को चाहिए कि राशन के डिपुओं को सप्ताह में हर रोज खोला जाना चाहिए, जिससे सभी को राशन मिल सकें।