Tuesday, March 31, 2020 01:57 PM

कर्फ्यू… सब बंद

वाहन जब्त

ऊना - कोरोना की रोकथाम के लिए जिला प्रशासन ऊना के साथ काम कर रहे विभिन्न विभागों के मध्य समन्वय स्थापित करने के उद्देश्य से आज बचत भवन में एक बैठक का आयोजन किया गया, जिसकी अध्यक्षता उपायुक्त ऊना संदीप कुमार ने की। बैठक में डीसी ने कहा कि पूर्ण कर्फ्यू आम लोगों की सुरक्षा के लिए है और इसमें सभी का सहयोग आवश्यक है। उन्होंने कहा कि आदेशों की पालना न करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। कर्फ्यू के दौरान दुकानें खोलने वाले दुकानदारों पर एफआईआर दर्ज की जा रही है और सड़कों पर घूमने वाले वाहन जब्त किए जा रहे हैं। उपायुक्त ने कहा कि जिला ऊना में कोरोना के संक्रमण का कोई मामला सामने नहीं आया है, लेकिन लगभग 250 लोगों को होम क्वारंटीन में रखा गया है। उन्होंने कहा कि लोगों के हित को देखते हुए आदेश जारी किए जा रहे हैं और इन आदेशों को सख्ती से लागू किया जा रहा है। वहीं, बैठक में एसपी कार्तिकेयन गोकुलचंद्रन ने कहा कि कोई भी सूचना पुलिस के साथ साझा करने के लिए कंट्रोल रूम बनाया गया है, जिसके लिए 194 या 8219477707 पर बात की जा सकती है। उन्होंने कहा कि हर थाने में क्यूआरटी तैनात की गई है और अगर कोई होम क्वारंटीन को तोड़कर लोगों की सुरक्षा के साथ खिलवाड़ कर रहा है तो उस पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने कहा कि कर्फ्यू का उल्लंघन न करने पर भी सख्त कार्रवाई होगी। बैठक में एडीसी अरिंदम चौधरी सहित सभी प्रशासनिक अधिकारी उपस्थित रहे।

मीडिया कर्मियों के साथ करें सहयोग

डीसी ने कहा कि  समय-समय पर कर्फ्यू में ढील भी दी जाएगी, ताकि लोग अपनी जरूरत का सामान जैसे राशन, दवा, दूध व सब्जी की खरीद कर सकें। ढील के दौरान सिर्फ जरूरी सामान की दुकानें ही खुली रहेंगी और अपनी दुकानों पर लोगों की भीड़ जमा न होने देना भी दुकानदार की ही जिम्मेदारी होगी। खरीददार जिला प्रशासन का सहयोग करें। डीसी ने कहा कि कर्फ्यू में ढील के दौरान भी दोपहिया व चार पहिया वाहनों को चलाने की अनुमति नहीं रहेगी। उन्होंने पुलिस को निर्देश दिए कि प्रिंट व इलेक्ट्रॉनिक मीडियाकर्मियों के काम में दखल न दें।

फंसे लोगों को निकालने का प्रयास

संदीप कुमार ने कहा कि सीमा पर कुछ लोगों के कर्फ्यू में फंसे होने की सूचना प्राप्त हो रही है और उन्हें जिला प्रशासन निकालने के लिए प्रयास किए जा रहे हैं। उनके रहने व खाने की व्यवस्था प्रशासन की ओर से की जा रही है।