Wednesday, October 16, 2019 02:01 AM

काजा में किसानों को खेती पर बांटा ज्ञान

 केलांग -कृषि विभाग काजा, कृषि प्रोद्यौगिकी प्रबंधन अभिकरण आतमा लाहुल-स्पीति, कृषि विज्ञान केंद्र ताबो के संयुक्त तत्वाधान से जिला स्तरीय किसान मेला व सुभाष पालेकर प्राकृतिक खेती जागरुकता शिविर का आगाज गुरुवार को काजा किया गया। इस मेले में कृषि जनजातीय एंव सूचना प्रोद्यौगिकी मंत्री डा. रामलाल मार्कंडेय ने बतौर मुख्यातिथि शिरकत की। इस दौरान मेला ग्रांउड में विभिन्न विभागों द्वारा लगाई गई प्रदर्शनियों के स्टालों का आवलोकन भी मुख्यातिथि ने किया। मेले में राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला काजा के छात्रों द्वारा सरस्वती वंदना की प्रस्तुति दी गई। कृषि जनजातीय एंव सूचना प्रोद्यौगिकी मंत्री डा. राम लाल मार्कंडेय ने इस दौरान कहा कि  हिमाचल प्रदेश प्राकृतिक खेती में भार वर्ष के लिए मॉडल बनने जा रहा है। प्रदेश भर में इस खेती के प्रति किसानों का रूझान बढ़ता जा रहा है। आज 17000 किसानों को प्राकृतिक खेती के तहत प्रशिक्षण दिया जा चुका है। इस बार हमारा लक्ष्य 50 हजार किसानों को प्राकृतिक खेती के बारे में प्रशिक्षित करने का है। स्पीति में पिछले कई वर्षों से पूर्ण रूप से प्राकृतिक खेती हो रही है, लेकिन कुछ किसानों ने कीटनाशक और रासायनिक खादों स्प्रे का इस्तेमाल कर रहे हैं। इससे फसल में जहरयुक्त रसायन हमारे शरीर में जा रहे हैं। प्राकृतिक खेती जब होगी तो हमारी फसलें रसायनमुक्त और रोग मुक्त होगी। उक्त मेले में घाटी के करीब 1500 किसानों ने शिरकत की। इस दौरान किसानों को पावर टिल्लर भी दिए गए।