Tuesday, November 19, 2019 03:04 AM

कालेजों में बायोमीट्रिक मशीनें लगाने पर निदेशक को ज्ञापन

चंबा  - हिमाचल राजकीय महाविद्यालय अध्यापक संघ कालेज चंबा इकाई के सदस्यों ने बुधवार को कालेज प्राचार्य डा. शिव दयाल माध्यम से उच्च शिक्षा निदेशक को ज्ञापन सौंपा। राजकीय महाविद्यालय अध्यापक संघ की केंद्रीय कार्यकारिणी के आह्वान पर हिमाचल प्रदेश उच्च शिक्षा विभाग द्वारा हिमाचल प्रदेश के राजकीय महाविद्यालयों में लगाई जा रही बायोमीट्रिक मशीनों के संदर्भ को लेकर सौंपे गए इस ज्ञापन में कहा गया कि महाविद्यालय के अध्यापकों का अध्यापन कार्य शोधकार्य, प्रैक्टिकल कार्य, परीक्षा कार्य बाकी विभाग के कर्मचारियों से अलग तरह का है जिसे समय की सीमाओं में नहीं बांधा जा सकता है। यूजीसी के नियम 2009 व रूसा की गाइडलाइन के मुताबिक महाविद्यालय व विश्वविद्यालय के अध्यापकों का कार्य समय न्यूनतम पांच घंटे का है जिसे दस से पांच बजे तक नहीं बांधा जा सकता है। उनके मुताबिक संघ बॉयोमीट्रिक मशीन लगने के विरोध में नहीं है, पहले विभाग महाविद्यालय अध्यापकों को पांच घंटे के ठहराव को अधिसूचित करे। इसके इलावा संघ की अन्य जायज मांगों को  ना मानने व महाविद्यालयों में मूलभूत सुविधाओं के अभाव में बायोमीट्रिक मशीन का विरोध किया जाएगा व कोई भी अध्यापक इसके लिए अपनी किसी प्रकार की जानकारी कार्यालय को नहीं देगा। इस अवसर पर इकाई के  प्रधान प्रोफेसर परविंदर, महासचिव डा. महेंद्र सलारिया, प्रो रघुवीर सिंह, डा. हेमंत, डा. मनेश, डा. ज्योतिंद्रा, प्रोफेसर अविनाश,  प्रो. मीनाक्षी, डा. तेज सिंह एवं प्रो. दिनेश सहित अन्य मौजूद रहे।