Wednesday, July 17, 2019 12:07 AM

किन्नौर में अब भी बर्फ की मार

रिकांगपिओ —बर्फबारी के दो महीने बाद भी जनजातीय क्षेत्र   किन्नौर के कई ग्रामीण क्षेत्रों में संपर्क सड़क मार्ग बहाल नही हो पाए है। इसी तरह कई ग्रामीण क्षेत्री में रह रहे लोग पेयजल के लिए भी खासी दिखते जेल रहे है।  जिला के नेसंग, ठंगी, कुनो-चारंग, लिप्पा, आसरंग, मुरंग, छितकुल आदि कई संपर्क सडज मार्गो पर अब तक हिमाचल पथ परिवहन निगम की बसों की आवाजाही बंद है, क्यों कि इन ग्रामीण क्षेत्रो में अभी तक संपर्क मार्ग को पीडब्ल्युडी विभाग  द्वारा बहाल नहीं किया गया है। कांग्रेस पूह मंडल अध्यक्ष प्रेम नेगी, पूह ब्लॉक कांग्रेस पवक्ता तेजस्वी प्रकाश सहित, सांडूप नेगी, इंद्र सिंह ने बताया कि बीते दो महीने बाद भी जिला के मुरंग, ठंगी, कुंनोचारनग, लिप्पा एआसरंग ए छितकुल, नेसङ्ग  के ग्रामीणों सहित सरकारी कर्मचारी, स्कूली बच्चों को जान जोखिम में डालकर कई किलोमीटर पैदल चलकर अपने सफर करने को मजबूर होना पड़ रहा है । वहीं इन क्षेत्रों में पिछले करीब तीन माह से पेय जल के लिए भी परेशान है। उन्होंने बताया कि सरकारी नियमानुसार प्रतिदिन हर व्यक्ति को 60 लीटर स्वछ जल मुहैया करवाया जा है लेकिन आईपीएच विभाग की नाकामी के चलते इन क्षेत्र के लोगों को आज भी बर्फ पिघलाकर पेय जल की व्यवस्था करने में मजबूर होना पड़ रहा है। हिमाचल पथ परिवहन निगम रिकांगपिओ डिप्पो के अड्डा इंचार्ज खिमी राम ने कहा कि कुंनोचारनग के लिए बस ठंगी तक जा रही है और आसरंग के लिए लिप्पा तक और मुरंग के लिए मुरंग कैंची तक बस जा रही है छितकुल के लिए अभी सांगला तक ही बस जा रही है। इन सभी क्षेत्रों के अवरुद्ध संपर्क मार्गों पर एक्सईएन बीएस गुलेरिया का कहना है कि आज उपायुक्त किन्नौर से संपर्क मार्गो के बहाली के बारे में बैठक हुई है। विभाग की तरफ  से कार्य युद्स्तर पर चला है एक दो दिनों में इन सभी क्षेत्रों में सड़क मार्ग बहाल कर दिया जाएगा।