Tuesday, March 31, 2020 01:41 PM

किन्नौर में बारिश ने चार मकान उजाडे़

उषा देवी जी का मंदिर भी खतरे की जद में; नंगानी में खूब बरपा कहर, कई मकानों में दरारें भी 

रिकांगपिओ - दो दिनों की मूसलाधार बारिश ने किन्नौर जिला में चार रिहायशी घरों को उजाड़ दिया जबकि चार परिवारों के घर सहित निचार उषा देवी जी का ऐतिहासिक मंदिर भी खतरे की जद में आ गया है।  पंचायत उप प्रधान निचार एवं सदस्य हिमाचल प्रदेश सोशल जस्टिस एंड एंपायरमेंट राज पाल नेगी ने बताया कि दो दिन किन्नौर जिला के निचार क्षेत्र में तेज बारिश के बाद शुक्रवार देर रात निचार पंचायत क्षेत्र के नंगानी बस्ती के वार्ड नंबर छह में भूस्खलन होने से छेरिग दावा पुत्र डूब छेरिग, शिव लाल पुत्र छूके, जितेंद्र पुत्र प्रति राम, शालीग राम पुत्र आत्मा राम का मकान पूरी तरह क्षतिग्रस्त हो गया जबकि देवी सिंह पुत्र आत्मा राम, राम पुत्र नंद राम, प्रेम चंद पुत्र गुरु दास सहित इंद्र दास पुत्र रामा नंद के मकानों में दरारें पड़ गई है। बारिश के कारण हुए भू-स्खलन से ऐतिहासिक निचार उषा देवी जी मंदिर को भी खतरा बना हुआ है। यदि समय रहते पुख्ता कदम नहीं उठाया गया तो मंदिर सहित और भी कई रिहायशी घर भी भू-स्खलन की चपेट में आ सकते है। घटना के सामने आने पर एसडीएम निचार मनमोहन सिंह सहित पंचायत प्रतिनिधियों व राजस्व अधिकारियों में घटना स्थल का दौरा कर नुकसान का जायजा लेने के बाद चार परिवारों को फोरी राहत के तौर पर पांच, पांच हजार रुपए की राशी प्रदान कर चार परिवारों को वन विभाग सहित महिला मंडल के भवन में शिफ्ट किया गया।