Wednesday, April 24, 2019 06:11 AM

किराए के भवन में चल रहा शिकायत कक्ष

पद्धर—विद्युत उपमंडल पद्धर के अंतर्गत विद्युत सेक्शन उरला में कनिष्ठ अभियंता कार्यालय एवं शिकायत कक्ष कई दशक से किराए के भवन में ही चल रहा है और विभाग को आज तक अपना सरकारी भवन नसीब नहीं हो पाया है। इससे विभागीय सुस्त प्रणाली कहें या अनदेखी विडंबना की प्रदेश का सबसे बड़े कमाऊ विभाग चार दशक से भी अधिक समय बीत जाने के बावजूद अपना कार्यालय भवन नहीं बन पाया है वह आज तक किराए के भवन में ही चल रहा है। उरला के ग्रामीण सुनील कुमार,कालू राम, सरन,  सोमदेव कुमार, सोमनाथ ,लाल सिंह, गुरदेव हंसराज, नानक चंद,  हरिश, प्रेम, मीना, बैशाखी, प्रेमी, बिमला  आदि ने बताया कि क्षेत्र में और भी बहुत सी सेक्शन के अपने कार्यालय भवन बने हुए हैं, लेकिन सन 1975 में स्थापित उरला सेक्शन का कनिष्ठ अभियंता कार्यालय शिकायत कक्ष आज दिन तक किराए के भवन में ही चला आ रहा है। उन्होंने कहा कि सन 1975 के बाद में अन्य विभागों के शिक्षण संस्थान व कार्यालय का निर्माण हुआ है लेकिन विद्युत विभाग ने इस और कोई भी ध्यान नहीं दिया है उधर, सहायक अभियंता पद्धर संत राम ने बताया कि बोर्ड उरला कलेक्शन बहुत ही पुराना है लेकिन अभी तक किराए के भवन में ही कार्यालय वह शिकायत कक्ष भी चलाया जा रहा है उधर, इस बारे में जब स्थानीय विधायक जवाहर ठाकुर से पूछा गया तो बताया कि उरला शिक्षण के लिए कहीं भी जगह उपलब्ध होती है तो शीघ्र ही बिजली बोर्ड का भवन बनाया जाएगा इसके लिए उन्होंने प्रयास भी किए हैं और कर रहे हैं । उधर, जब इस बारे में पूर्व मंत्री ठाकुर कौल सिंह से पूछा तो उन्होंने कहा कि यहां सबसे बड़ी समस्या सरकारी जमीन की रही जिस कारण विद्युत बोर्ड का भवन बनाने में कठिनाई का सामना करना पड़ रहा है और मेरी उरला के लिए पहली प्राथमिकता थी लेकिन जगह का प्रावधान  न होने से ये नही बन पाया। लोगों का कहना है कि 40 वर्षों में अभी तक विद्युत उपमंडल पद्धर के अंतर्गत उरला में कनिष्ठ अभियंता कार्यालय व शिकायत कक्ष का भवन नहीं बन पाया है। इससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि सरकार कितनी गंभीर है। पंचायत प्रधान  रेखा देवी का कहना  है कि कई बार सरकार के नुमाइंदों को भी विधायकों को भी मंत्रियों को भी इस बारे में अवगत करवाया गई लेकिन सबसे बड़ी समस्या यहां निर्माण के लिए जमीन की है, अगर यहां पर भूमि उपलब्ध हो जाती है तो विद्युत सेक्शन उरला में उरला का अभियंता कार्यालय एवं शिकायत कर कक्ष कार्यालय बनाने में कोई भी अड़चन नही हैं । जिसके लिए उन्होंने पहले भी सरकार व विधायक मंत्रियों को भी अवगत करवाते आ रहे हैं।