Wednesday, April 24, 2019 05:45 AM

किलाड़ में जल्द दौड़ेगी बस

केलांग—जनजातीय जिला में मौसम के बदलने के बाद अब जनजीवन भी पटरी पर लौटने लगा है। यहां पर एक तरफ जहां सड़कांे की बहाली का कार्य युद्ध स्तर पर शुरू किया गया है, वहीं एचआरटीसी भी अब अपनी बस सेवा को बहाल करने में जुट गई है।  इस फेहरिस्त में मंगलवार को जनजातीय जिला के किलाड़ के लिए केलांग डिपो ने अपना 16 सदस्यों का एक दल हेलिकाप्टर के माध्यम से किलाड़ भेजा है। डिपो के अधिकारियों का कहना है कि उक्त दल जहां प्रशासन के साथ मिल घाटी की सड़कों का निरीक्षण करेगा, वहीं जल्द ही किलाड़ में बस सेवा को भी बहाल कर देगा। ऐसे में मौसम के खुलते ही जनजातीय जिला में लोगों की दिक्कतें अब कुछ कम होने लगी हैं। लोकसभा चुनावों को ध्यान में रख चुनाव आयोग ने जहां जनजातीय जिला की सड़कों को युद्ध स्तर पर बहाल करने के फरमान जारी किए हैं, वहीं प्रशासन ने भी सड़कों की बहाली का कार्य युद्ध स्तर पर शुरू किया है। इस फेहरिस्त में जनजातीय जिला की सड़कों के बहाल होने के साथ-साथ एचआरटीसी भी बस सेवा को बहाल करने में जुटी हुई है। उल्लेखनीय है कि मंगलवार को भुंतर हवाई अड्डे से हेलिकाप्टर की उड़ान किलाड़ के लिए करवाई गई। इस उड़ान में एचआरटीसी के केलांग डिपो के 16 कर्मियों को जनजातीय जिला के किलाड़ पहुंचाया गया। इस दल में केलांग डिपो के एक अड्डा प्रभारी,छह चालक, चार कंडक्टर व चार तकनीकी स्टाफ  शामिल है। हालांकि एचआरटीसी के स्टाफ  को सोमवार को ही किलाड़ के लिए उड़ान भरनी थी, लेकिन रोहतांग और घाटी में मौसम खराब रहने के कारण हेलिकाप्टर की उड़ान नहीं हो सकी। एचआरटीसी के केलांग डिपो के क्षेत्रीय प्रबंधक मंगल चंद मनेपा ने बताया कि बीआरओ और पीडब्ल्यूडी के अधिकारियों द्वारा खोली गई घाटी की सड़कों का निरीक्षण करने के बाद हिमाचल पथ परिवहन निगम के केलांग डिपो के समस्त कर्मचारी अपनी सेवाएं जल्द ही घाटी में देना शुरू कर देंगे। उन्होंने बताया कि मंगलवार को 16 सदस्यों की एक टीम को भी हेलिकाप्टर के माध्यम से किलाड़ भेजा गया है। उन्होंने बताया कि किलाड़ में भी जल्द एचआरटीसी की बस सेवा बहाल कर दी जाएगी।